[ad_1]

नई दिल्ली:

Elvish Yadav Jail: बिग बॉस ओटीटी सीजन 2 के विनर एल्विश यादव इस समय जेल में है. यूट्यूबर एल्विश यादव कठिन समय से गुजर रहे हैं. सोशल मीडिया पर भौकाल जमाने वाले एल्विश को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. अब खबर है कि एल्विश को एक संगरोध सेल से निकालकर हाई सिक्योरिटी वाली बैरक में भेजा गया है. साथ ही नोएडा पुलिस ने इस मामले में दो और संदिग्धों को गिरफ्तार किया है. इसमें एल्विश का एक दोस्त भी शामिल है. फिलहाल उनसे नियमित रूप से पूछताछ की जा रही है. 

हाई सिक्योरिटी जेल में शिफ्ट हुए एल्विश
एल्विश यादव पर रेव पार्टी में सांपों का जहर सप्लाई करने का आरोप है. इस मामले में दोषी पाए जाने के बाद ही उन्हें कोर्ट ने 14 दिन की ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजा था. इस विवाद में मामले की जांच तेज हो गई है. एल्विश यादव पर नोएडा पुलिस ने 29 एनडीपीएस एक्ट लगाया है. यह अधिनियम तब लगाया जाता है जब कोई व्यक्ति नशीली दवाओं से संबंधित साजिश जैसे नशीली दवाओं की खरीद-फरोख्त में शामिल होता है. अब गिरफ्तारी के कुछ दिनों बाद एल्विश को हाई सिक्योरिटी जेल में स्थानांतरित कर दिया गया था. 

एल्विश पर लगीं ये धाराएं
एल्विश यादव पर नोएडा पुलिस ने गंभीर धाराओं के तहत केस दर्ज किया है. एनडीपीएस अधिनियम की धारा 29 के तहत अपराध करना एक गंभीर अपराध है जिसमें 10 से 20 साल की कैद और एक से दो लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है. बता दें कि पिछले साल पीपल फॉर एनिमल्स (पीएफए) संगठन की शिकायत के आधार पर नोएडा पुलिस ने सेक्टर 51 स्थित एक बैंक्वेट हॉल पर छापा मारा था और पांच लोगों को गिरफ्तार किया था.छापेमारी में नौ जहरीले सांप बरामद किये गये थे. एफआईआर रिपोर्ट में एल्विश यादव का नाम भी सांप के जहर की आपूर्ति करने वाले और पार्टियों का आयोजन करने वाले आरोपियों में से एक था.

एल्विश ने PFA अधिकारियों को धमकाया
स्नेक वेनम केस में एल्विश का नाम दोबारा सामने आया था. दरअसल, हाल ही में उन्होंने पीएफए के दो अधिकारी जो भाई हैं को धमकाया था. इसके बाद अधिकारियों ने शिकायत दर्ज कराई कि यूट्यूबर ने उन्हें धमकी दी थी. इसी के बाद एल्विश को गिरफ्तार किया गया था. 

एल्विश के वकील ने क्या कहा? 
एल्विश यादव के वकील प्रशांत राठी ने उन्हें बेगुनाह बताते हुए कोर्ट में सफाई पेश की थी. वकील ने कहा, “नवंबर में मामला दर्ज होने के बाद से, सीआरपीसी की धारा 160 के तहत तलब किए जाने के बाद, एल्विश यादव पांच बार पूछताछ के लिए आ चुके हैं. रविवार को भी, यादव को पूछताछ के लिए बुलाया गया था, लेकिन पुलिस ने उन्हें अवैध रूप से हिरासत में लिया और गलत तरीके से गिरफ्तार दिखाया गया. वकील ने कहा, ”यादव को यह भी नहीं बताया गया कि उसे क्यों या किस अपराध के लिए गिरफ्तार किया जा रहा है, जो अपने आप में अवैध है.”

 

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *