नई दिल्ली. आज यानी बुधवार 22 मार्च को, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने राजधानी नए अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (ITU) के एरिया ऑफिस और इनोवेशन सेंटर और भारत के 6G टेस्टबेड प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया है। इसके साथ ही आज उन्होंने अपने वक्तव्य की शुरुआत, शुभकामनाओं के साथ करते हुए कहा कि, आज का दिन बहुत विशेष है, बहुत पवित्र है। आज से हिंदू कैलेंडर का नया वर्ष शुरू हुआ है। मैं आप सभी को और सभी देशवासियों को विक्रम संवत 2080 की बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं।

आज इस ख़ास मौके पर उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि, आज ITU के एरिया ऑफिस, इंनोवेशन सेंटर औऱ साथ ही भारत के 6G टेस्टबेड प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया गया है। यह डिजिटल रूप से अत्यंत लाभकारी साबित होगा और इसके माध्यम से इंनोवेशन के नए अवसर भी बनेंगे।  मुझे खुशी है कि नव वर्ष के पहले दिन टेलीकॉम ICT और इससे जुड़े इनोवेशन को लेकर एक बहुत बड़ी शुरूआत भारत में हो रही है। आज यहां worldwide telecommunication union के एरिया और इनोवेशन सेंटर की स्थापना हुई है। इसके साथ-साथ आज 6G टेस्टिंग को भी लांच किया गया है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, ये डिजिटल इंडिया को एक नई ऊर्जा देने के साथ साउथ एशिया और ग्लोबल साउथ के लिए नए समाधान और नए इनोवेशन भी लेकर आएगा।उन्होंने आगे कहा कि, इनके साथ ही भारत के पास जो दो प्रमुख शक्तियां हैं, वो हैं 𝐓𝐫𝐮𝐬𝐭 और 𝐒𝐜𝐚𝐥𝐞… बिना Belief और Scale के, हम टेक्नॉलॉजी को कोने-कोने तक नहीं पहुंचा सकते। इस दिशा में भारत के प्रयासों की चर्चा आज पूरी दुनिया कर रही है।

उन्होंने आगे कहा कि, बीते वर्षों में भारत ने DBT के माध्यम से ₹28 लाख करोड़ से अधिक भारतीयों के खातों में भेजे हैं।जनधन योजना के माध्यम से हमने अमेरिका की कुल आबादी से भी अधिक बैंक खाते खोले हैं।आधार के द्वारा उन्हें authenticate किया और फिर 100 करोड़ से अधिक लोगों को मोबाइल के द्वारा कनेक्ट किया।

उन्होंने आज ये भी कहा कि, भारत में टेक्नोलॉजी सिर्फ mode of energy नहीं है बल्कि mission to empower है। अब भारत के गांवों में इंटरनेट यूजर्स की संख्या शहरों में रहने वाले इंटरनेट यूजर्स से भी अधिक हो गई है। ये इस बात का प्रमाण है कि डिजिटल पावर कैसे देश के कोने-कोने में पहुंच रही है। देश में बन रहे हर प्रकार के इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े डेटा लेयर्स को एक प्लेटफॉर्म पर लाया जा रहा है। लक्ष्य यही है कि इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास से जुड़े हर रिसोर्स की जानकारी एक जगह हो, हर स्टेकहोल्डर के पास रियल टाइम इंफॉर्मेशन हो।

उन्होंने साफ़ किया कि, आज का भारत digital revolution के अगले कदम की तरफ तेजी से आगे बढ़ रहा है। आज भारत दुनिया में सबसे तेजी से 5G रोलआउट करने वाला देश है। सिर्फ 120 दिनों में ही 125 से अधिक शहरों में 5G रोलआउट हो चुका है। देश के लगभग 350 जिलों में 5G सर्विस पहुंच गई है।

वहीं 5G रोलआउट के लेकर उन्होंने कहा कि, 5G रोलआउट के 6 महीने बाद ही आज हम 6G की बात कर रहे हैं।ये भारत का कॉन्फिडेंस दिखाता है। आज हमने अपना विजन डॉक्यूमेंट भी सामने रखा है। ये अगले कुछ वर्षों में 6G रोलआउट करने का बड़ा आधार बनेगा। अब ये decade भारत का tech-ade है। भारत का टेलीकॉम और डिजिटल मॉडल easy है, safe है, clear है, trusted and examined है।

उन्होंने आगे कहा कि, अब भारत दुनिया में telecom expertise का बड़ा exporter होने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। 5G की जो शक्ति है, उसकी मदद से पूरी दुनिया का Work-Tradition बदलने के लिए भारत कई देशों के साथ मिलकर काम कर रहा है।

 





Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *