Pic: ANI

नई दिल्ली. जहां एक तरफ अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) अब लगातार कामयाबी हासिल करता जा रहा है। वहीं भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इस महीने के अंत में यानी 26 मार्च रविवार को 36 वनवेब सेटेलाइट्स (OneWeb Satellites) के दूसरे बैच को लॉन्च करने जा रहा है। 

जी हां, इसे श्रीहरिकोटा से LVM-III रॉकेट से आगामी लॉन्च किया जाएगा। ISRO ने इस बाबत वनवेब के साथ सेटेलाइट्स को लॉन्च करने के लिए हजार करोड़ का करार किया है।

ऐसे में अगर ISRO की यह लॉन्चिंग अगर कामयाब होती है, तो भारती एंटरप्राइज (Bharti Enterprise) समर्थित ब्रिटेन स्थित कंपनी स्पेस में 600 से अधिक लोअर अर्थ ऑर्बिट सेटेलाइट्स के कान्स्टलैशन को जल्द ही पूरा कर लेगी, जिससे दुनिया के हर कोने में, हर जगह स्पेस आधारित ब्रॉडबैंड इंटरनेट सर्विस मुहैया कराने की पेशकश करने की उसकी योजना में भी काफी मदद मिलेगी।

सफल लॉन्चिंग पर मिलेंगे हजार करोड़

ऐसे भी खबर है कि, ‘लॉन्चिंग’ के समय मौसम अगर सामान्य रहा तो ISRO का LVM3 वनवेब के 36 सेटेलाइट्स को अगले रविवार को पृथ्वी की निचली कक्षा में स्थापित कर देगा। ऐसा यह दूसरी बार हो रहा है जब वनवेब भारतीय स्पेस एजेंसी ISRO के सेटेलाइट लॉन्चिंग सर्विस का इस्तेमाल कर रहा है। पता हो कि, बीते साल 23 अक्टूबर को वनवेब के पहले 36 सेटेलाइट्स श्रीहरिकोटा से लॉन्च किए गए थे।

इस बाबत बीते सोमवार को ISRO ने ट्वीट किया कि, “LVM3-M3/वनवेब इंडिया-2 मिशन लॉन्च होने जा रहा है। श्रीहरिकोटा के दूसरे लॉन्चिंग पैड SDSC-SHAR से रविवार 26 मार्च को इसकी लॉन्चिंग का समय तय किया गया है।” बता दें कि, वनवेब के 36 सेटेलाइट्स फ्लोरिडा से 16 फरवरी को ही भारत पहुंच आ गए थे। वहीं श्रीहरिकोटा से रविवार को की जा रही लॉन्चिंग में वनवेब की 18वीं लॉन्चिंग में 36 सेटेलाइट्स को छोड़ा जाएगा।

गौरतलब है की इससे पहले इसी महीने की 9 मार्च को, स्पेसएक्स के फाल्कन-9 रॉकेट (Falcon-9 Rocket) ने 40 वनवेब सेटेलाइट्स को अतंरिक्ष में स्थापित किया था। वहीं ISRO ने बीते साल अक्टूबर में भी श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से वनवेब के पहले 36 सेटेलाइट्स की सफलतापूर्वक लॉन्चिंग की थी। ऐसे में रविवार को होने वाली इस ‘लॉन्चिंग’ से भी ऐसी ही आशा है।





Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *