[ad_1]

Google launches Google Gemini app

Loading

नई दिल्ली: कुछ दिन पहले ही गूगल ने बार्ड का नाम Gemini कर दिया था।  गूगल ने अब Gemini एप को रिलीज करना शुरू कर दिया है। Google Gemini का रोलआउट भारत में एंड्रॉयड यूजर्स के लिए शुरू हो चुका है, हालांकि iOS यूजर्स को इस एप के लिए इसका इंतजार करना पड़ सकता है, क्योंकि गूगल ने अभी ये नहीं बताया है कि iPhone यूजर्स के लिए Google Gemini एप कब रिलीज किया जाएगा।

Google Gemini 150 देशों में हुआ लॉन्च  

गूगल के सपोर्ट पेज पर दी गई जानकारी के मुताबिक Google Gemini एप को भारत समेत 150 देशों में लॉन्च किया गया है। Gemin एप अंग्रेजी, जापानी और कोरियन भाषा में उपलब्ध है। Google Gemini को आईफोन यूजर्स एप के जरिए तो इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं, लेकिन गूगल एप में इसका एक्सेस दिया गया है, जहां से आईफोन यूजर्स भी इसे यूज कर सकते हैं।

Google Gemini को 8 फरवरी को लॉन्च किया गया था, तब यह सिर्फ अमेरिका तक ही सीमित था। Gemini एप के लिए कम-से-कम 4 जीबी रैम वाले फोन की जरूरत होगी और फोन में एंड्रॉयड 12 या फिर इससे ऊपर के वर्जन का होना जरूरी है।

Google Gemini क्या है

गूगल जेमिनी ओपनएआई के चैटजीपीटी की तरह एक एआई चैटटूल है। गूगल ने Gemini को लेकर कहा है कि यह एक नए युग की शुरुआत है। इसका सीधा मुकाबला ओपनएआई के सबसे लेटेस्ट एआई टूल GPT-4 के साथ है। गूगल का Gemini मल्टीमॉडल एआई और बेसिक एआई का कॉम्बो वर्जन है। 

AI मॉडल के मुकाबले 85% बेहतर

Gemini को लेकर ये भी दावा किया जा रहा है कि प्रोग्रामिंग में इसे महारत हासिल है। यह अपने कंपटीटर मॉडल के मुकाबले दोगुना फास्ट है और इसकी परफॉरमेंस मार्केट में मौजूद AI मॉडल के मुकाबले 85% बेहतर है।

ऐसे करें डाउनलोड

  • सबसे पहले गूगल प्ले-स्टोर पर जाएं और Google Gemini टाइप करके सर्च करें।
  • अब Gemini एप को इंस्टॉल करें।
  • अब Gemini एप को ओपन करें और Get began पर क्लिक करें।
  • इसके बाद पॉलिसी को स्वीकार करें।
  • अब इसे इस्तेमाल कर सकते हैं और अपने सवाल पूछ सकते हैं।
  • Gemini को डिफॉल्ट असिस्टेंट बनाने के लिए राइट साइड में टॉप पर दिख रही प्रोफाइल पिक्चर पर क्लिक करें।
  • अब Settings में जाएं।
  • अब Digital assistants from Google के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद Gemini आपके फोन के लिए डिफॉल्ट डिजिटल असिस्टेंट हो जाएगा।
  • बाद में आप चाहें तो इसे इसी तरह डिफॉल्ट से हटा भी सकते हैं।

Gemini के हैं तीन मॉडल

गूगल ने अपने नए आई मॉडल Gemini के तीन वर्जन Extremely, Professional और Nano पेश किए हैं जो कि तीनों अलग-अलग इस्तेमाल के लिए हैं। Gemini एक सिंगल लैंग्वेज मॉडल नहीं है लेकिन Gemini Nano, Gemini Professional और Gemini Extremely की अपनी एक जरूरत है।

Gemini Extremely सबसे पावरफुल टूल 

इनमें से Gemini Extremely सबसे बड़ा और सबसे पावरफुल टूल है, जिसे खासतौर पर हैवी टास्क के लिए डिजाइन किया गया है। इसका इस्तेमाल डाटा सेंटर जैसी जगहों पर होगा, वहीं Gemini Professional अल्ट्रा के बराबर तो नहीं है लेकिन छोटे डाटा सेंटर्स पर इसका इस्तेमाल हो सकता है।

सबसे छोटा मॉडल Gemini Nano

इनमें से सबसे छोटा मॉडल Gemini Nano जिसे एंड्रॉयड डिवाइस को ध्यान में रखते हुए डिजाइन किया गया है। इसे ऑफलाइन भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। मोबाइल डिवाइस में इसका इस्तेमाल करते हुए कई काम किए जा सकेंगे। जेमिनी नैनो का सपोर्ट सबसे पहले गूगल पिक्सल 8 प्रो के लिए जारी किया जाएगा। यह टूल व्हाट्सएप के मैसेज का रिप्लाई भी खुद ही कर देगा।



[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *