[ad_1]

एआईएडीएमके की प्रवक्ता शशिरेखा ने कहा कि सदस्यों की राय के आधार पर हम यह फैसला ले रहे हैं। यह एआईएडीएमके के लिए सबसे खुशी का क्षण है। हम आगामी चुनावों का सामना करने के लिए बहुत खुश हैं, चाहे वह संसद या विधानसभा चुनाव हो।

वहीं पार्टी नेता कोवई सत्यन ने कहा कि गठबंधन की पवित्रता के लिए हमने यथास्थिति बनाए रखी। बावजूद इसके अन्नामलाई दंगा भड़काने वाले व्यक्ति निकले। उन्होंने हमारे नेताओं और संस्थापकों पर टिप्पणी करना शुरू कर दिया। उन्होंने हमारी विचारधारा की आलोचना शुरू कर दी। उन्होंने हमारी रैली की भी आलोचना की जिसमें 15 लाख से अधिक लोग आए थे। जहां तक तमिलनाडु का संबंध है, यह बीजेपी है जिसे एआईएडीएमके की जरूरत है, न कि एआईएडीएमके को बीजेपी की जरूरत है।

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *