[ad_1]

कांग्रेस नेता ने कहा कि नौजवानों को जो अधिकार मिलना चाहिए वो व्यापमं, पटवारी घोटाला खा गया, महिलाओं को जो संविधान सम्मान, सुरक्षा, सशक्तिकरण का अधिकार देता है, प्रदेश में 18 बलात्कार जो रोज होते हैं, उसने पर्दाफाश कर दिया, आत्महत्या की कगार पर पहुंचता हुआ किसान, उसके अधिकार इस प्रदेश में लापता हैं। वहीं 48 लाख किसान ऐसे हैं, सोयाबीन की फसल चौपट हो जाती है और उनके पास दो जून की रोटी नहीं है और सरकार सो रही है। वो आदिवासी उनके अधिकार भी सरकार खा गई, जिनके 3 लाख 22 हजार पट्टे निरस्त कर दिये, जिनके मुंह पर इनके कार्यकर्ता पेशाब करते हैं। हर संवैधानिक अधिकार का क्षरण किया और आज इनकी इतनी जुर्रत हो गई कि ये बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी की तस्वीर तक पर प्रहार करते हैं।

रागिनी नायक ने कहा कि आज शिवराज सिंह का कार्यकाल समाप्त हुआ, अब कभी दोबारा नहीं आयेगा और अब इस्तीफा क्या, जनता अब जोरदार तमाचा ऐसी सरकार के मुंह पर लगाने वाली है, जिसके अधिकारों को, जिसके हक और हूकूम, सुख और चैन को ये सरकार खा गई हो। कांग्रेस पार्टी, पीसी. शर्मा, के.के. मिश्रा, मैं या सुरेन्द्र राजपूत जी महत्वपूर्ण नहीं हैं, पर महिलाओं और दलितों के अधिकार महत्वपूर्ण हैं, जिनकी रक्षा कांग्रेस पार्टी मरते दम तक करती रहेगी। अंत में उन्होंने कहा कि इस अपेक्षा के साथ कि चुनाव आयोग निष्पक्षता की हर कसौटी पर खरा उतरेगा। लोकतंत्र के सबसे बड़े जन पर्व की सभी प्रदेशवासियों को बधाई देती हूं।

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *