मांझी ने कहा कि उन्होंने अपनी मांग अमित शाह, नित्यानंद राय और सीएम नीतीश कुमार के सामने भी रखी है। महागठबंधन द्वारा सीएम का ऑफर था, लेकिन, मैंने उसे ठुकरा दिया। उन्होंने कहा कि मुझे पैसे और पद का लालच कभी नहीं रहा, जो यह समझते हैं, उन्हें गलतफहमी है।

बिहार की नीतीश सरकार में रार, मांझी ने दो मंत्री पद की रखी मांग
user

बिहार में बीजेपी के साथ नीतीश कुमार के सरकार बनाने के बाद अभी तक मंत्रियों के विभागों का बंटवारा नहीं होने पर सवाल उठने लगे हैं। इस बीच सहयोगी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने एक और मंत्री पद को लेकर दबाव की सियासत शुरू कर दी है। जीतन राम मांझी ने एक और मंत्री पद की मांग करते हुए कहा है कि ऐसा नहीं करना अन्याय होगा।

नीतीश कुमार की नई सरकार में मांझी की पार्टी से उनके बेटे संतोष कुमार सुमन को मंत्री बनाया गया है। पटना में शुक्रवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा कि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा को मंत्रिमंडल में कम से कम एक और मंत्री पद मिलना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि निर्दलीय को मंत्रिमंडल में स्थान भी मिल रहा है और सुनने में आ रहा है कि मनचाहा विभाग भी मिल रहा है।

मांझी ने यहां तक कहा कि उन्होंने अपनी मांग केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय और सीएम नीतीश कुमार के सामने भी रखी है। महागठबंधन द्वारा सीएम का ऑफर था, लेकिन, मैंने उसे ठुकरा दिया। उन्होंने कहा कि मुझे पैसे और पद का लालच कभी नहीं रहा, जो यह समझते हैं, उन्हें गलतफहमी है। मांझी ने पार्टी से अनिल कुमार सिंह को मंत्री बनाने की मांग उठाते हुए कहा कि ऐसा नहीं करना अन्याय होगा। वह सवर्ण समाज से आते हैं।

वहीं, बिहार में एनडीए की सरकार बने करीब पांच दिन गुजर गए हैं, लेकिन, अब तक मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है। इसे लेकर अब सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं और विपक्ष ने भी हमले शुरू कर दिए हैं। जब शुक्रवार को इस मामले पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी से पूछा गया तब उन्होंने दावा करते हुए कहा कि जल्द मंत्रालय का बंटवारा हो जाएगा। नीतीश कुमार को यह करना है। वहीं, वीआईपी प्रमुख मुकेश सहनी ने कहा कि बिहार में केवल सरकार बदली है। लेकिन, अभी भी बहुत कुछ बाकी है।


;



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *