[ad_1]

जेएमएम ने नलिन सोरेन को दुमका सीट और मथुरा प्रसाद महतो को गिरिडीह सीट से चुनाव मैदान में उतारने का फैसला किया है। बीजेपी पहले ही पूर्व जेएमएम विधायक और हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन को दुमका संसदीय सीट पर उतारने का ऐलान कर चुकी है।

जेल में बंद हेमंत सोरेन दुमका से नहीं लड़ेंगे चुनाव, विधायक नलिन को JMM ने उतारा
जेल में बंद हेमंत सोरेन दुमका से नहीं लड़ेंगे चुनाव, विधायक नलिन को JMM ने उतारा
user

झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) ने गुरुवार को दुमका लोकसभा सीट के लिए शिकारीपाड़ा के अपने विधायक नलिन सोरेन को प्रत्याशी घोषित किया। इसी के साथ जेएमएम ने स्पष्ट किया कि जेल में बंद पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन दुमका संसदीय सीट से चुनाव नहीं लड़ेंगे। पार्टी ने टुंडी के अपने विधायक मथुरा प्रसाद महतो को गिरिडीह लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा है।

पहले ऐसी अटकलें लगायी जा रही थीं कि हेमंत सोरेन जेल से ही इस सीट से चुनाव लड़ेंगे। एक जेएमएम पदाधिकारी ने कहा, ‘‘पार्टी ने नलिन सोरेन को दुमका सीट और मथुरा प्रसाद महतो को गिरिडीह सीट से चुनाव मैदान में उतारने का निर्णय लिया है।’’ बीजेपी पहले ही पूर्व जेएमएम विधायक और हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन को दुमका संसदीय सीट पर उतारने का ऐलान कर चुकी है।

बीजेपी ने दो मार्च को अपने निवर्तमान सांसद सुनील सोरेन को दुमका से फिर प्रत्याशी बनाया था, लेकिन बाद में उसने उनकी उम्मीदवारी वापस ले ली ताकि सीता सोरेन को वहां से लोकसभा चुनाव लड़ाया जा सके। सुनील सोरेन ने 2019 के चुनाव में जेएमएम अध्यक्ष शिबू सोरेन को 47,590 मतों के अंतर से हराया था।

सत्तारूढ़ जेएमएम को झटका देते हुए तीन बार की विधायक और पार्टी के दिग्गज नेता शिबू सोरेन की बड़ी पुत्रवधू सीता सोरेन पिछले महीने बीजेपी में शामिल हो गयी थीं। सीता सोरेन ने आरोप लगाया कि 2009 में पति दुर्गा सोरेन की मृत्यु हो जाने के बाद जेएमएम ने उनकी उपेक्षा की और उन्हें पार्टी में ‘अलग-थलग’ कर दिया था।


[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *