सोमवार को विधान परिषद में खडसे ने एक तस्वीर दिखाते हुए आरोप लगाया कि मंत्री गिरीश महाजन नासिक में एक शादी में शामिल हुए थे, जिसमें भगोड़े माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम कासकर के रिश्तेदार भी मौजूद थे। खडसे ने पूछा कि उनके साथ मंत्री के क्या संबंध हैं?

एकनाथ शिंदे के मंत्री के ‘माफिया लिंक’ पर महाराष्ट्र विधानसभा में हंगामा
user

महाराष्ट्र विधानसभा में सोमवार को उस समय हलचल मच गया जब एनसीपी (शरद पवार गुट) के एमएलसी एकनाथ खडसे ने बीजेपी नेता और एकनाथ शिंदे सरकार में मंत्री गिरीश महाजन पर माफिया से कथित संबंधों का आरोप लगा दिया। इस पर डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस को महाजन के बचाव में उतरना पड़ा। इस राजनीतिक हलचल से विधानमंडल के अंदर और बाहर हंगामा हो गया।

दरअसल सोमवार को विधान परिषद में एकनाथ खडसे ने सदन में एक तस्वीर दिखाते हुए आरोप लगाया कि मंत्री गिरीश महाजन नासिक में एक शादी में शामिल हुए थे, जिसमें भगोड़े माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम कासकर के रिश्तेदार भी मौजूद थे। खडसे ने कहा, “डॉन के रिश्तेदारों और उसके गुर्गे सलीम शेख ‘कुट्टा’ के साथ मंत्री का क्या संबंध है? मंत्री का कैबिनेट में बने रहना कितना उचित है? सरकार को इस मामले की तुरंत जांच करवानी चाहिए, क्‍योंकि शिवसेना (यूबीटी) नेता सुधाकर बडगुजर के मामले में तत्काल कार्रवाई की गई थी।”

मंत्री पर गंभीर आऱोपों से सकते में आई गठबंधन सरकार के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने अपने कैबिनेट सहयोगी का बचाव करते हुए कहा कि लगभग छह साल पहले महाजन और पार्टी के कई अन्य नेता और अधिकारी नासिक में एक मुस्लिम धर्मगुरु शहर-ए-खतीब के भतीजे की शादी में शामिल हुए थे।

फड़णवीस ने कहा, “हमने पुष्टि की है कि शहर-ए-ख़तीब या दूल्हे के परिवार का दाऊद के साथ कोई संबंध नहीं था और यहां तक कि दुल्हन पक्ष का भी ऐसा कोई संबंध नहीं था। हालांकि, आरोप लगाए जाने के बाद मैंने तत्कालीन डीसीपी की अध्यक्षता में एक जांच समिति गठित की थी और उसकी रिपोर्ट ने भी इसकी पुष्टि की थी।” उन्होंने यह भी कहा कि महाजन उस शादी में शामिल हुए थे, क्योंकि वह नासिक के (तत्कालीन) संरक्षक मंत्री थे और उनके खिलाफ कथित माफिया संबंधों के सभी आरोप बिल्कुल झूठे हैं।

फड़नवीस ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि विधानसभा में ऐसे विषय उठाए जा रहे हैं, क्योंकि (पूर्व सीएम) उद्धव ठाकरे विधान परिषद में मौजूद हैं।फड़णवीस ने कहा, “मैं कहूंगा कि जो लोग एक मंत्री के खिलाफ इस तरह के बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं और सरकार की छवि खराब कर रहे हैं, उन्हें माफी मांगनी चाहिए।”

बाद में विधान परिषद में विपक्ष के नेता अंबादास दानवे ने सदन के बाहर आरोप लगाया कि विपक्षी सदस्यों को इन मुद्दों पर बोलने की अनुमति नहीं दी गई। वहीं स्कूल शिक्षा मंत्री दीपक केसरकर ने कहा कि महाजन ने सद्भावना के संकेत के रूप में शहर-ए-खतीब के भतीजे की शादी में भाग लिया था, क्योंकि स्थानीय मुस्लिम समुदाय ने नासिक कुंभ मेले (2015) के दौरान अच्छा सहयोग किया था।

दीपक केसरकर ने कहा कि माफिया सलीम ‘कुट्टा’ के विपक्षी दल के नेता (बडगुजर) के साथ नृत्य करने के मामले को ढकने के लिए मंत्री पर आरोप लगाए जा रहे हैं। केसरकर ने यह भी कहा कि लोग विधानमंडल की कार्यवाही का सीधा प्रसारण देखते हैं, इसलिए जनता के बीच गलतफहमी फैलने से रोकने के लिए यह स्पष्ट रूप से उल्लेख किया जाना चाहिए था कि (महाजन की) तस्वीर पुरानी थी।


;



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *