आजकल बाजार में तरह-तरह के सेक्स टॉय मौजूद हैं। आजकल सेक्स टॉय को लेकर लोग बहुत नॉर्मल हो चुके हैं, वहीं कई ऐसी महिला हैं, जो सेल्फ प्लेजर के लिए सेक्स टॉय का इस्तेमाल करती हैं। सेक्स टॉय का इस्तेमाल करने में कोई बुराई नहीं है, परंतु यदि आप इनके इस्तेमाल का सही तरीका नहीं जानती हैं और इनके साफ-सफाई संबंधी उचित जानकारी नहीं रखती हैं, तो आपके इंटिमेट हेल्थ के लिए इसका प्रभाव बेहद नकारात्मक हो सकता है। एक गंदा सेक्स टॉय वेजाइनल इन्फेक्शन, यूटीआई, सहित रशेज और अन्य परेशानियों के खतरे को बढ़ा देता है।


किसी भी सेक्स टॉय को इस्तेमाल करने से पहले इसके साफ सफाई (sex toy care) से जुड़ी उचित जानकारी होना बेहद महत्वपूर्ण है। एक सुरक्षित और हेल्दी मास्टरबेशन के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण है। इस विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हेल्थ शॉट्स ने ऑरा क्लिनिक, गुड़गांव की डायरेक्टर एवं क्लाउड नाइन हॉस्पिटल, गुड़गांव की सीनियर कंसलटेंट डॉ रितु सेठी से बात की। तो चलिए जानते हैं सेक्स टॉय के रख रखाव से जुड़ी कुछ जरूरी बातें (sex toy care)।

जानें सेक्स टॉय के इस्तेमाल का सुरक्षित तरीका (sex toy care)

1. हाइजीन प्रोडक्ट्स को लेकर सावधान रहें

अधिकांश सेक्स टॉय जो आमतौर पर सिलिकॉन, कांच और स्टेनलेस स्टील से बने होते हैं, उन्हें हल्के साबुन और पानी से पर्याप्त रूप से साफ किया जा सकता है। हालांकि, सावधान रहें क्योंकि सभी साबुन और वाशिंग प्रोडक्ट्स अंतरंग उपयोग के लिए सुरक्षित नहीं होते। इन्हें बनाने में कुछ हार्श प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया जाता है, जैसे कि आर्टिफिशियल फ्रेगरेंस, इनमें जलन पैदा करने वाले तत्व होते हैं जिनसे असुविधा, माइक्रोबियल असंतुलन और संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है।

अपने आनंद को बढ़ाने के लिए आप सेक्‍स टॉयज की मदद ले सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

वल्वर क्षेत्र को शरीर के अन्य भागों की तुलना में अधिक देखभाल की आवश्यकता होती है। इसका अपना पारिस्थितिकी तंत्र और लगभग 5 का नाजुक पीएच है, जो संक्रमण और जलन को रोकने के लिए संतुलन में रहना चाहिए। ऐसे में यदि आप सेक्स टॉय का इस्तेमाल करती हैं, और प्रॉपर हाइजीन मेंटेन नहीं कर पा रही। तो ऐसे में pH असंतुलित हो सकता है, जो आपके लिए कई परेशानियां खड़ी कर सकता है।


2. सेक्स टॉय को पूरी तरह से ड्राई करना जरूरी है

ऐसा एक क्लीन पेपर टॉवल लें जिनमें से एक्स्ट्रा पेपर बाहर न निकलते हों, या ऐसे तौलिये का उपयोग करें जिससे रेशे नहीं गिरते हों। एक रोएंदार तौलिया त्वचा पर अच्छा लग सकता है, परंतु इसका इस्तेमाल न करें क्योंकि माइक्रोफाइबर निकलने वाली कोई भी चीज़ वर्जित है। छोटे-छोटे रेशे आपके सेक्स टॉय से चिपक सकते हैं और आपकी योनि के अंदर जा सकते हैं, जिससे जलन और अन्ह संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

इसके अलावा, यह सुनिश्चित करें कि आपके सेक्स टॉय पिरी तरह से सूखे हों, ताकि नम सतहों पर कोई बैक्टीरिया न पनप सके। यदि संभव हो, तो उन्हें हवा में सुखाने का प्रयास करें और फिर उन्हें सुरक्षित रूप से स्टोर करें।

यह भी पढ़ें : Healthy Egg Count : प्रेगनेंसी के लिए एग काउंट पर ध्यान देना भी है जरूरी, इन 5 तरीकों मेंटेन करें क्वालिटी

3. बैटरी प्रोडक्ट्स पर दें अधिक ध्यान

ज्यादातर वाइब्रेटर बैटरी से चलते हैं। बैटरी से चलने वाले अपने सेक्स टॉय को धोने के लिए पानी में डुबाने से बचें। जैसा कि हम जानते हैं, वाइब्रेटर को वर्क करने के लिए बैटरी या इलेक्ट्रिसिटी की आवश्यकता होती है। ऐसे में आपको पानी के संपर्क में आने पर अतिरिक्त सावधानी बरतने की ज़रूरत है। गुनगुने पानी और साबुन की मदद से अपने सेक्स टॉय को पोछ कर साफ करें। यह पर्याप्त होगा और आपको सुरक्षित रखेगा। सीधे पानी से साफ करने से ये खराब हो सकते हैं।


Sex-toys
अपने सेक्स टॉयज को किटाणुरहित करना बहुत जरूरी है। चित्र-शटरस्टॉक।

4. सेक्स टॉय स्टोरेज पर ध्यान देना है महत्वपूर्ण

अपने सेक्स टॉय को सुरक्षित स्थान पर रखना उतना ही महत्वपूर्ण है, जितना कि उसे ठीक से साफ करना। इसे बेडसाइड ड्रावर जैसी जगहों पर बिना ढंके रखने से बचें, क्योंकि ऐसी जगहें धूल और गंदगी का आश्रय स्थल होती हैं। सुनिश्चित करें कि आप अपने सेक्स टॉय को उन प्यारे छोटे डस्ट बैग में रखें जिनमें आपने उन्हें खरीदा था। यही कारण है कि अधिकांश कंपनी सेक्स टॉय को साटन बैग के साथ देती है।

वहीं सेक्स टॉय को डायरेक्ट सनलाइट से दूर रखने की सलाह दी जाती है, क्योंकि सनलाइट सेक्स टॉय मटेरियल के साथ रिएक्ट कर सकती हैं। विशेष रूप से जेली और रबर के खिलौनो को भिलकर भी सूरज की किरणों के संपर्क में न आने दें। उन्हें एक बैग में या ढक्कन के साथ एक दराज, सूटकेस या बॉक्स में बंद करके रखना अधिक सुरक्षित है।

5. कंडोम का इस्तेमाल है सबसे महत्वपूर्ण

सेक्स टॉय यूज़ करती हैं तो कंडोम का इस्तेमाल निश्चित रूप से करना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि अगर आप अपने टॉय को पूरी तरह से साफ करती हैं, तब भी संक्रमण का खतरा बना रहता है। एक अध्ययन में वाइब्रेटर के उपयोग और सफाई के पूरे एक दिन बाद उन पर मानव पैपिलोमावायरस के निशान पाए गए।


यह भी पढ़ें : Vaginal shampoo : क्या योनि के लिए सेफ है वेजाइनल शैंपू का इस्तेमाल? एक एक्सपर्ट से जानते हैं इसका जवाब



Source link