[ad_1]

यदि लहसुन खाने का सही तरीका मालूम हो तो कई तरह की बीमारियों का जोखिम नहीं रहता है। शोध विशेषज्ञ भी इसे सही तरीके से भोजन में शामल करने पर जोर देते हैं।

munh ki durgandh se bachne ke liye apple cider vinegar ke saath khaya ja sakta hai lehsun.
लहसुन सर्दी-जुकाम को ठीक करने से लेकर ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए भी जाना जाता है।चित्र : अडोबी स्टॉक

कई बीमारियों से हमें दूर रख सकता है लहसुन। भारत में सदियों से खाद्य आहार के साथ-साथ बीमारियों के इलाज के लिए भी लहसुन खाया जाता रहा है। दरअसल, पहले लोग लहसुन खाने का सही तरीका जानते थे। अब जानकारी के अभाव में इसे ठीक ढंग से नहीं खाया जा रहा है। इन दिनों लहसुन पर खूब रिसर्च हो रहे हैं। शोध विशेषज्ञ भी इसे सही तरीके से भोजन में शामल करने पर जोर दे रहे हैं। आइये जानते हैं स्वास्थ्य लाभ के लिए लहसुन खाने का सही तरीका (the best way to eat garlic) क्या होना चाहिए?


लहसुन के पोषक तत्व (Garlic Vitamins)

एंटीऑक्सीडेंट जर्नल के अनुसार, लहसुन में पोटेशियम, फास्फोरस, जिंक और सल्फर का हाई लेवल होता है। साथ ही, सेलेनियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज, आयरन, सोडियम, विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स (the best way to eat garlic) भी मौजूद होते हैं।

कैसे शरीर पर काम करता है लहसुन (how Garlic works on well being)

एंटीऑक्सीडेंट जर्नल बताता है कि लहसुन सर्दी-जुकाम को ठीक करने से लेकर ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए भी जाना जाता है। इसमें एलिसिन केमिकल होता है, जो एक प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट है। यह शरीर पर विशेष रूप से काम (the best way to eat garlic) करता है। इसके बायोएक्टिव कम्पाउंड ब्लड में फैट को सीमित करता है। मांसपेशियों को आराम देता है। ब्लड प्रेशर कण्ट्रोल कर हार्ट को भी स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। यह प्रतिरक्षा कार्य को बढ़ा सकता है।

यहां हैं अधिक स्वास्थ्य लाभ पाने के लिए लहसुन खाने का सही तरीका (listed here are 5 proper approach to eat garlic)

1 कच्चा लहसुन खाएं (Eat Uncooked Garlic for well being advantages)

हर दिन डाइट प्लान में कम से कम एक खुराक या 2 कली लहसुन शामिल करें। सब्जी-दाल के साथ लहसुन पका कर खाने की बजाय यदि कच्चा लहसुन खाया जाए, तो यह सबसे अधिक फायदा देता है। कच्चे और पके हुए लहसुन का मिश्रण इस सब्जी के स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने का सबसे अच्छा तरीका है।


यह भी पढ़ें

Homemade Mouthwash : ताज़ा सांसों के लिए ट्राई करें 4 DIY माउथवॉश, ओरल हाइजीन भी रहेगी  बेहतर

lehsun ko sukhakar garlic powder banakar khaya ja sakta hai.
यदि खाली पेट रोज 2 कली लहसुन खाया जाये, तो यह सबसे अधिक फायदा देता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

2 लहसुन के साथ भोजन पकाएं (prepare dinner meals with Garlic for well being advantages)

यदि किसी डिश में लहसुन का उपयोग किया जा रहा है, तो प्रति डिश कम से कम 1-2 कलियों का उपयोग किया जा सकता (the best way to eat garlic) है। कच्चे लहसुन की तरह, स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले कंपाउंड का फायदा पाने के लिए इसका कूटकर, काट कर भोजन में डालें। मांस या टोफू को लहसुन के घोल में मैरीनेट किया जा सकता है।
लहसुन का सूप, पास्ता या हरी सब्जियों को लहसुन के साथ पकाना, आलू के साथ मैश करना भी हो सकता है।

3 पाउडर का करें प्रयोग (Garlic powder for well being advantages)

लहसुन पाउडर का भी अलग-अलग तरीके से उपयोग किया जा सकता है। इसमें ताजा लहसुन के जितना स्वास्थ्य लाभ नहीं मिल सकते हैं। पास्ता सॉस, सूप और अन्य व्यंजनों में आधा से 1 चम्मच लहसुन पाउडर मिलाएं।

4 एप्पल साइडर के साथ करें प्रयोग (garlic with apple cider vinegar)

लहसुन स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है, लेकिन आपके दोस्तों, परिवार और सहकर्मियों को इसकी गंध अच्छी नहीं लग सकती है। सेब के साथ खाने पर मुंह से लहसुन की दुर्गन्ध नहीं आती है। एप्पल साइडर विनेगर और पानी के साथ मिला कर लहसुन खा सकती (the best way to eat garlic) हैं। पानी और शहद के साथ मिलाकर लें या सिर्फ नींबू के साथ सेवन करें।


fermented garlic and honey ke fayde
एप्पल साइडर विनेगर और पानी के साथ मिला कर लहसुन खा सकती हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक

5 सप्लीमेंट भी ले सकती हैं (Garlic complement)

इन दिनों ड्राइड लहसुन के कैप्सूल और सप्लीमेंट (the best way to eat garlic) भी मिलते हैं। लहसुन सप्लीमेंट लेने से पहले डॉक्टर से बात करना जरूरी है। कुछ शारीरिक समस्या होने पर या अन्य दवा लेने पर इसे लहसुन के साथ नहीं मिलाया जाता है।

यह भी पढ़ें :- ड्राइविंग और पढ़ने में बाधा बन सकता है लो विज़न, एक्सपर्ट बता रहे हैं इसके कारण और समाधान

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *