[ad_1]

अच्छी सेक्स लाइफ के लिए सेक्सुअल डिजायर का लगातार बने रहना जरूरी है। जबकि समय के साथ ज्यादातर लोग इसमें कमी महसूस करने लगते हैं। आपके आसपास मौजूद ये 6 चीजें इसके लिए जिम्मेदार हो सकती हैं।

सम्मान, सुरक्षा और भेदभाव एवं हिंसा से मुक्त सेक्स किसी के भी यौन जीवन के लिए जरूरी है। यौन स्वास्थ्य व्यक्ति के पूरे जीवन को प्रभावित कर सकता है। यह न केवल प्रजनन के वर्षों में, बल्कि युवा और बुजुर्ग दोनों के लिए यह जरूरी होता है। अच्छे यौन जीवन के लिए सेक्सुअल डिजायर या कामेच्छा होना जरूरी है। मगर कुछ कारक ऐसे हैं, जो सेक्सुअल डिजायर के लिए बाधा बनते हैं। ये कामेच्छा को खत्म कर देते हैं और व्यक्ति की सेक्स लाइफ ( intercourse drive killer) प्रभावित होने लगती है।

क्या है सेक्सुअल डिजायर (What’s sexual want)

लॉन्ग टर्म में पूरे शरीर के स्वास्थ्य की रक्षा करने और दोनों पार्टनर के बीच सकारात्मक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए सेक्सुअल हेल्थ केयर जरूरी है।
सेक्सुअल डिजायर या कामेच्छा का मतलब है सेक्स ड्राइव या सेक्स की इच्छा होना। यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नाटकीय रूप से अलग हो सकता है। यह व्यक्ति की प्राथमिकताओं और जीवन की परिस्थितियों के आधार पर भी भिन्न हो सकता है। सेक्सुअल डिजायर मेडिकल स्थितियों, हार्मोन लेवल, दवाओं, जीवनशैली और रिश्ते की समस्याओं से प्रभावित हो सकती है।

यहां हैं सेक्स लाइफ को प्रभावित करने वाले 6 सेक्स-ड्राइव किलर(6 intercourse drive killer)

1 तनाव प्रभावित कर सकता है (Stress have an effect on sexual want)

कुछ लोग प्रेशर में बढ़िया आउटपुट दे देते हैं। उनका काम अच्छी तरह हो जाता है, पर सेक्सुअल डिजायर महसूस करना आमतौर पर उनमें से एक नहीं है। काम, घर या रिश्तों में तनाव किसी को भी हो सकता है। इसे स्वस्थ तरीके से संभालना और सीखना इसमें मदद कर सकता है। सेक्सुअल डिजायर के लिए तनावमुक्त होना सबसे अधिक जरूरी है। इसमें पार्टनर, हेल्थकेयर एडवाइजर या डॉक्टर की भी मदद ली जा सकती है।

2 पार्टनर के साथ समस्या (companion drawback have an effect on sexual want)

पार्टनर के साथ समस्या शीर्ष सेक्स-ड्राइव किलर में से एक है। महिलाओं के लिए पार्टनर के साथ करीबी महसूस करना सेक्सुअल डिजायर के लिए सबसे अधिक जरूरी है। दोनों जेंडर के लिए झगड़ों, ख़राब कम्युनिकेशन, चीट करना या चीटिंग हुआ महसूस करना किलर का काम कर सकता है। यदि आप दोनों के बीच समस्या है, तो पटरी पर वापस आना मुश्किल है। इसके लिए डॉक्टर या थेरेपिस्ट से संपर्क करना जरूरी है।

sharab peena badha sakta hai breast cancer ka jokhim
अल्कोहल कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार होता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

3 अल्कोहल प्रभावित करता है सेक्स ड्राइव (Alcohol have an effect on intercourse drive)

अल्कोहल कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार होता है। ड्रिंक सेक्स के प्रति अधिक खुला जरूर महसूस करा सकता है। लेकिन बहुत अधिक शराब सेक्स ड्राइव को खत्म कर सकती है। नशे में रहना भी साथी के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। यदि आप चाहकर भी अल्कोहल छोड़ने में परेशानी हो रही है, तो थेरेपिस्ट से मदद ले सकती हैं।

यह भी पढ़ें

पेशाब करते हुए जलन महसूस होती है, तो ये 5 कारण हो सकते हैं इसके लिए जिम्मेदार

4 बहुत कम नींद (unhealthy sleep have an effect on sexual want)

सम्भव है कि तनाव के कारण आपको पर्याप्त नींद नहीं मिल रही होगी। क्या आप बहुत देर से सोती हैं या बहुत जल्दी उठती हैं? क्या आपको नींद से जुड़ी कोई समस्या है -जैसे सोने में परेशानी या नींद न आना, या स्लीप एपनिया जैसी स्थिति? कोई भी चीज़ जो रात के साउंड स्लीप के साथ खिलवाड़ करती है, तो वह सेक्सुअल डिजायर के साथ भी खिलवाड़ कर सकती है। थकान सेक्स की भावनाओं को ख़त्म कर देती है। अपनी नींद की आदतों पर काम करें। यदि इससे मदद नहीं मिलती है, तो डॉक्टर से बात करें।

5 बच्चे बन सकते हैं बाधा (little one influence on sexual want)

पेरेंट्स बनने के बाद सेक्स ड्राइव खत्म नहीं हो सकता। उनकी दिनचर्या जरूर इसे प्रभावित कर सकती है। उनके सोने-बैठने का समय सेक्सुअल डिजायर को प्रभावित कर सकता है। इसे अपने तरीके से मैनेज कर सकते हैं। बच्चे की झपकी के समय सेक्स का प्रयास करना चाहिए।

6 दवाएं सेक्सुअल डिजायर को कम कर सकती हैं (drugs lowers sexual want)

कुछ दवाएं सेक्सुअल डिजायर को कम कर सकती हैं। उनमें इस प्रकार की कुछ दवाएं शामिल हैं:
• एंटी डिप्रेशेंट
• ब्लडप्रेशर की दवा
• बर्थ कंट्रोल की गोलियां
• कीमोथेरेपी

chemotherapy ke karan sexual desire me kami hoti hai.
कुछ दवाएं सेक्सुअल डिजायर को कम कर सकती हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक

• एंटी एचआईवी दवा
• फिनस्टराइड
दवाओं या सप्लीमेंट को बदलने से मदद मिल सकती है। इस बारे में डॉक्टर से पूछें और कभी-भी अपनी मर्जी से कोई भी दवा लेना बंद न करें। यदि कोई नई दवा लेने के तुरंत बाद सेक्स ड्राइव रुक जाती है, तो डॉक्टर से जरूर बताएं।

यह भी पढ़ें :- हाई प्रोलैक्टिन लेवल भी हो सकता है इनफर्टिलिटी के लिए जिम्मेदार, जानिए क्या है यह और कैसे बढ़ जाता है

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *