सर्दी के मौसम में ठंड नहीं लगेगी तो भला और क्या होगा? पर आप इससे बीमार न पड़ें और मौसमी संक्रमण से भी बचे रहें, इसके लिए जरूरी है अपने आहार में कुछ फूड्स को परमानेंट शामिल कर लिया जाए।

बचपन में जब भी हमें सर्दी जुखाम की समस्या होती थी तो घर के कई नुस्खे जैसे लहसून, शहद, अदरक, काढ़ा, गर्म तेल की मालिश की जाती थी। लेकिन बड़े होने पर ये चीजेंं करने का समय कम ही होता है तो इसलिए ये जानना जरूरी है जब हमें सर्दी या जुखाम हो तो क्या खाना चाहिए। जिसे ये जल्दी से जल्दी ठीक हो या हमे इससे आराम मिल सके।

जब भी आपको सर्दी होती है तो आप अपने आप को हाइड्रोट रखने के लिए कुछ भी पीना बंद कर देते है और केवल सोने को बारे में सोचते है। हालांकि, कुछ खाद्य पदार्थ और पेय सर्दी के लक्षणों से कुछ राहत दे सकते हैं। अमूमन आप ये सोचते होंगे कि सर्दी होने पर आपको केला नहीं खाना चाहिए क्योंकि वो ठंडा होता है। लेकिन ये गलत धारणा है, केला, कैमोमाइल टी, हल्दी और अनार का जूस का सेवन किया जा सकता है।

सर्दी और कोल्ड से बचने के लिए किन चीजों का करें सेवन (Meals to keep away from chilly and cough)

शोरबा एक गर्म, पेय पदार्थ है जिसका उपयोग अक्सर सूप के लिए किया जाता है

ब्रोथ (broth)

ब्रोथ जिसे शोरबा भी कहा जाता है एक गर्म, पेय पदार्थ है जिसका उपयोग अक्सर सूप के लिए किया जाता है, अगर आपको सर्दी है तो आपको इसका सेवन करना चाहिए। इस पेय पदार्थ में सूजन-रोधी गुण होते हैं। ब्रोथ में अमीनो एसिड और खनिज भी होते हैं जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करते है।

आप इसके लिए बोन ब्रोथ का उपयोग कर सकते हैं। इसमें आप किसी भी तरह का मांस मिला सकते है। यदि आप मांस नहीं खाते हैं, तो लहसुन, अदरक, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी और काली मिर्च जैसी चीजें ब्रोथ में मिक्स कर सकते है।

यह भी पढ़ें

बस एक मुट्टी भुने हुए चने आपकी सेहत को दे सकते हैं ये 5 बेमिसाल फायदे

कैमोमाइल टी (chamomile tea)

कैमोमाइल टी का एक गर्म कप आपकी नींद को बेहतर कर सकता है, जो आपको जल्दी बेहतर महसूस करने में मदद कर सकता है। कैमोमाइल एक सहायक एंटीऑक्सीडेंट है। यह इसमें पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड्स नामक रसायनों के कारण होता है। फ्लेवोनोइड्स – सेब, केल और प्याज में भी पाए जाते हैं। इसमें सूजन-रोधी गुण होते हैं जो बीमार होने पर आपको बेहतर महसूस करने में मदद करते हैं।

खट्टे फल (Citrus fruit)

संतरे, नींबू और नीबू जैसे खट्टे फलों में विटामिन सी और फोलेट होता है। ये दो पोषक तत्व आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत बनाने में उसके कार्य को बेहतर करने में मदद करते है।
संतरे के रस का सेवन करने के अलावा, आप पानी में नीबू का रस मिला सकते है। संतरे या अन्य खट्टे फल खाना भी सहायक हो सकता है।

adrak
अदरक मुख्य रूप से जी मिचलना और उल्टी को कम करने में मदद करता है। चित्र -अडॉबीस्टॉक

अदरक (Ginger)

जींजर मुख्य रूप से जी मिचलना और उल्टी को कम करने में मदद करता है। हालांकि, इसमें कई सूजनरोधी पोषक तत्व भी होते हैं जो सांस के मार्ग में संक्रमण को खत्म कर सकते हैं। इसके लाभों को प्राप्त करने के लिए ताजी अदरक लें। इसे काटें या कद्दूकस करें और इसे चाय, शोरबा, स्मूदी और जूस में मिलाएं। या ताजे फल पर छिड़क कर इसका सेवन करें।

कच्चा शहद (Uncooked Honey)

शहद में रोगाणुरोधी और सूजन-रोधी गुणों के अलावा, कच्चा शहद बच्चों में खांसी को कम करता है। मनुका शहद प्रतिरक्षा को मजबूत करने में मदद करता है, लोगों को कई वायरस और बैक्टीरिया से बचाता है। अपने गले को आराम देने और खांसी से राहत पाने के लिए इसे सोने से पहले एक चम्मच से खाएं, या इसे अपनी कैमोमाइल टी में मिलाएं।

ये भी पढ़े- इन 5 कारणों से खाने के बाद आपको महसूस होती थकान, इससे बचने के लिए याद रखें कुछ जरूरी बातें



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *