लगातार घण्टों बैठने और बार बार कुछ खाने की आदत से ओवरऑल शरीर में चर्बी जमा होने लगती है। फैट्स केवल बाजूओं और पेट पर ही नहीं बल्कि पीठ पर भी जमा होने लगते हैं। जिसकी बदौलत न केवल वज़न बढ़ता है बल्कि कपड़ों के साइज़ में भी बदलाव नजर आने लगता है। अगर आप भी पीठ में जमा हो रही चर्बी को लेकर परेशान है। तो कुछ आसान योगासन आपकी मदद कर सकते हैं। दिनभर में कुछ देर का योगाभ्यास फैट्स को बर्न करने के साथ पीठ में होने वाली ऐंठन और दर्द को भी दूर करने में मददगार साबित होता है। जानते हैं पीठ में जमा फैट्स को बर्न करने वाले 3 आसान योगासन (Yoga to burn back fat)।

पीठ में जमा फैट्स को दूर करेंगे ये आसान योगासन (Yoga to burn back fat)

1. अर्ध चंद्रासन (Half moon pose)

पैरों की मज़बूती को बनाए रखने के लिए अर्ध चंद्रासन का योगाभ्यास फायदेमंद साबित होता है। इसे निरंतर करने से मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन दूर होने लगती है। इस योग को करने से पूरा खिंचाव बाजूओं और पीठ पर आता है। इससे पीठ में जमा चर्बी भी बर्न हो जाती है।

योग को करने की विधि

इस योग को करने के लिए मैट पर सीधे खड़े हो जाएं। उसके बाद पीठ को सीधा कर लें और दोनों टांगों के मध्य गैप मेंटेन रखें।

इसके बाद दाहिने हाथ से जमीन को छूएं। दाहिने पैर को बाहर की ओर निकाल लें और हाथ को पैर के पास रखें।

उसके बाद बाएं हाथ को उपर उठाएं और बाजू को कोहनी से एकदम सीधा कर लें। अब गर्दन उपर रखें और हाथ की ओर देखें।

25 से 30 सेकण्ड तक इस मुद्रा में रहने के बाद सीधे खड़े हो जाएं और शरीर को ढ़ीला छोड़़ दें। गहरी सासं लें और फिर छोड़ें।

इससे शरीर के पोश्चर में भी सुधार आने लगता है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

2. परिवृत उत्‍कटासन (Twisted chair pose)

स्वास्थ्य संबधी समस्याओं से बचाने और वेटलॉस के लिए नियमित तौर पर परिवृत उत्‍कटासन का अभ्यास किया जाता है। इससे करने से फैट्स बर्न होने के अलावा कोर स्ट्रेंथ बढ़ने लगती है। इससे शरीर के पोश्चर में भी सुधार आने लगता है।

योग को करने की विधि

इस योगासन को करने के लिए मैट पर सीधे खड़े हो जाएं। अब दोनों पैरों को जोड़ लें। इसके बाद घुटनों को मोड़कर रखें

शरीर को चेयर सिटिंग की पोज़िशन में ले आएं और उसी प्रकार से बैठने का प्रयास करें।

अब दोनों हाथों का नमस्कार की मुद्रा में लेकर आएं। हाथों को जोड़ते हुए दाईं ओर घूम जाएं और गर्दन को दाई ओर घुमाते हुए छत की ओर देखें।

योगासन के दौरान गहरी सांस लें और बाईं कोहनी को दाई थाइज़ पर टिकाएं। 10 से 15 सेकण्ड तक इस पोज़िशन में बने रहें।

Back fat kum karta hai yeh yogasana
इसे करने से पेट के निचले हिस्से की मांसपेशियों में भी खिंचाव आता है, जो वेटलॉस में सहायक साबित होती है। चित्र अडोबी स्टॉक

3. धनुरासन (Bow pose)

पाचनतंत्र की मज़बूती से लेकर पीठ पर जमा फैट्स को दूर करने के लिए इस योग का अभ्यास आवश्यक है। इसे करने से बॉडी का पोश्चर बेहतर बनने लगती है। साथ ही बाजूओं और टांगों को भी मज़बूती मिलती है।
इस योग को करने के लिए मैट पर पेट के बल लेट जाएं। अब पीठ बिल्कुल सीधे कर लें। दोनों टांगों के बीच में गैप बनाकर रखें।

योग को करने की विधि

इसके बाद बाजूओं को पीछे की ओर लेकर जाएं और टांगों को घुटनों से मोड़ते हुए उपर की ओर उठाएं। पैरों को अंदर की ओर कर लें।

दोनों बाजूओं से पैरों को पकड़ लें और शरीर को पीछे की ओर स्ट्रेच करें।

गर्दन को उपर की ओर रखे। इससे खिंचाव महसूस होने लगता है।

योगासन को करने के लिए 30 सेकण्ड तक उसी मुद्रा में बने रहें। गहरी सांस लें और छोड़ें। उसके बाद शरीर को ढ़ीला छोड़ दें।

ये भी पढ़ें- गर्दन में होने वाली ऐंठन को दूर करेंगे ये 4 योगासन, जानें इन्हें करने का तरीका



Source link