[ad_1]

इंटिमेट हेल्थ से जुड़ी समस्याएं जैसे की वेजाइनल इन्फेक्शन, STD, UTI, रैशेज आदि आपको अपना शिकार बना सकते हैं। इन सभी से बचाव के लिए आपको अपनी इंटिमेट हेल्थ के प्रति विशेष तौर पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

महिलाओं को अपनी इंटिमेट हेल्थ के प्रति अधिक सचेत रहने की आवश्यकता होती है। वेजाइना, बटॉक्स सहित एनस के आसपास का एरिया बेहद संवेदनशील होता है, जिसकी सेहत के प्रति लापरवाही महंगी पड़ सकती है। इंटिमेट हेल्थ से जुड़ी समस्याएं जैसे की वेजाइनल इन्फेक्शन, STD, UTI, रैशेज आदि आपको अपना शिकार बना सकते हैं। इन सभी से बचाव के लिए आपको अपनी इंटिमेट हेल्थ के प्रति विशेष तौर पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है। तो चलिए आज हम बात करेंगे महिलाओं के लिए आवश्यक इंटिमेट केयर के बारे में।

हेल्थ शॉट्स ने इंटिमेट केयर को लेकर सी के बिरला हॉस्पिटल, गुरुग्राम की ऑब्स्ट्रक्ट्रिक्स और गायनेकोलॉजी डिपार्टमेंट की लीड कंसल्टेंट डॉक्टर आस्था दयाल से बात की। डॉक्टर ने इस बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी है, तो चलिए जानते हैं, कैसे रखना है इंटिमेट हेल्थ का ध्यान (Intimate hygiene suggestions)।

यहां हैं कुछ खास इंटिमेट केयर टिप्स (Intimate hygiene suggestions)

1. अंडरगारमेंट्स को साफ और सूखा रखें

आपके अंडरगारमेंट्स आपकी इंटिमेट हाइजीन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसके लिए यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि आप अपने अंडरगारमेंट्स को पूरी तरह से साफ और सूखा रखें। साफ और सूखे अंडरगारमेंट्स पहनने से इंटिमेट एरिया में किसी तरह का जलन नहीं होता। वहीं ये इंटिमेट एरिया में बैक्टीरिया के निर्माण को रोकता है, जिससे की संक्रमण का खतरा कम हो जाता है।

intimate hygiene
अपनी इंटिमेट हेल्थ का रखें खास ख्याल। चित्र शटरस्टॉक।

2. वाइप करते वक्त रखें खास ध्यान

अपने इंटिमेट एरिया को हमेशा आगे से पीछे की ओर पोंछकर साफ करें, खासकर जब आप योनि वाइप्स/नैपकिन का उपयोग कर रहे हैं। वहीं किसी भी प्रकार के सेंटेड वाइप का प्रयोग न करें क्युकी इनसे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

3. सेक्स के पहले और बाद में इंटिमेट एरिया को अच्छे से क्लीन करें

हानिकारक बैक्टीरिया के विकास और प्रसार को रोकने के लिए सेक्स से पहले और बाद में अपने इंटिमेट एरिया को अच्छी तरह क्लीन करना बेहद महत्वपूर्ण है। सुनिश्चित करें कि आपका पार्टनर भी ऐसा ही करता हो क्योंकि सेक्स के बाद संक्रमण बेहद आसानी से फैल सकता है। इसके अलावा, सेक्स के बाद यूरिन पास करना बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़ें

Ayurvedic tips for heavy period : पीरियड में हैवी फ्लो से भी राहत दिला सकते हैं ये 3 आयुर्वेदिक उपाय

यह भी पढ़ें: हॉट एंड स्पाइसी सेक्स सेशन एन्जॉय करना है, तो बेडरूम में जाने से पहले इन फूड्स से करें परहेज

इससे ब्लैडर सहित योनि के आसपास के बैक्टीरिया फ्लश आउट हो जाते हैं। क्युकी ये बैक्टीरिया ब्लैडर और वेजाइना को कनेक्ट करने वाले ट्यूब को संक्रमित कर सकते हैं। कडल और मेक आउट करने से पहले अपने इंटिमेट एरिया को साफ जरूर करें। इसके साथ ही सेक्स के बाद भी इंटिमेट एरिया को क्लीन करना जरूरी है।

4. दिन में एक बार इंटिमेट एरिया को जरूर करें वॉश

दिन में कम से कम एक बार अपने इंटिमेट एरिया को गुनगुने पानी से जरूर धोएं, खासकर अपनी आंत खाली करने के बाद ताकि बैक्टीरिया का संचरण न हो। सुनिश्चित करें कि आप अपने पीरियड्स के दौरान इंटिमेट एरिया को कम से कम दो बार गर्म पानी से धो रही हों।

cotton underwear pehnein
सूती अंडरवियर पहनें!! चित्र : शटरस्टॉक

5. कॉटन के अंडरगार्मेंट्स पहने

सूती कपड़े त्वचा को सांस लेने की अनुमति देते हैं, जबकि सिंथेटिक कपड़े हवा के संचार को रोक देते हैं। यदि एयर पास न करे तो इंटिमेट एरिया में ह्यूमिडिटी का स्तर बढ़ सकता है, जिससे हानिकारक बैक्टीरिया के पनपने के लिए अनुकूल वातावरण बन सकता है। रोजमर्रा के उपयोग के लिए नरम, सूती पैंटी का उपयोग करें और केवल विशेष अवसरों के लिए फैंसी पैंटी का उपयोग करें। इसके अलावा टाइट जींस, बॉटम और पैंट जैसे कपड़े को लंबे समय तक पहने न रहें।

6. सेफ सेक्स प्रैक्टिस करें

जैसा की हम जानते हैं सेक्स के बाद और पहले इंटिमेट एरिया के क्लीन करने की सलाह दी जाती है। लेकिन, यदि आप सेफ सेक्स करती हैं, तो यह और भी बेहतर है। कंडोम का उपयोग करें और अपने पार्टनर से भी ऐसा करने का रिक्वेस्ट करे, क्योंकि ये आप दोनों के लिए सुरक्षित और फायदेमंद है। यह सभी प्रकार के संक्रमण के खतरे को कम कर देता है जिससे की आप परेशानी से बची रहती हैं।

यह भी पढ़ें: इंटरकोर्स के बाद योनि में खुजली के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें इससे राहत का तरीका

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *