[ad_1]

बदलते मौसम में सर्दी खांसी होने पर बचपन से मेरी मां कुछ खास मसलों का उपयोग करती चली आ रही हैं। तो चलिए जानते हैं ये कौन से मसाले हैं और इनकी क्या गुणवत्ता है।

इस बदलते मौसम सर्दी खांसी जैसी समस्याएं बेहद कॉमन होती हैं। इसे हम सीजनल कोल्ड और कफ कहते हैं। मौसम का अचानक से बदलना आपको परेशान कर सकता है, खासकर इस दौरान सभी उम्र के लोगों को सर्दी, खांसी और सीजनल फ्लू की समस्या आसानी से अपना शिकार बना लेती है। वहीं इसकी वजह से बच्चे बेहद परेशान रहते हैं। ऐसे में दवाइयों पर खर्च करने से बेहतर है, कुछ खास और प्रभावी घरेलू नुस्खे आजमाना। बदलते मौसम में सर्दी खांसी होने पर बचपन से मेरी मां कुछ खास मसलों का उपयोग करती चली आ रही हैं। उनके किचन के इन खास मसलों से मुझे फौरन आराम मिलता है। तो मैंने सोचा क्यों न इन मसलों की गुणवत्ता को आप सभी के साथ शेयर किया जाए।


न्यूट्रीशनिस्ट और हेल्थ टोटल की फाउंडर अंजलि मुखर्जी ने भी इन मसलों को बेहद कारगर बताया है। उनके अनुसार इन मसलों की गुणवत्ता सर्दी खांसी जैसे संक्रमण को बेहद आसानी से ट्रीट कर सकती है। तो चलिए जानते हैं, इन खास मसलों के नाम साथ ही जानेंगे संक्रमण की स्थिति में ये मसाले किस तरह से काम करते हैं (spices to keep away from chilly, cough and flu)।

यहां हैं सर्दी, खांसी के संक्रमण को ट्रीट करने के लिए कुछ खास मसाले (spices to keep away from chilly, cough and flu)

1. काली मिर्च

काली मिर्च एक बेहद प्रभावी मसाला है, जिसका प्रभाव आपके गले को हील करने में मदद करता है। इसमें विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा पाई जाती है। यह दोनों पोषक तत्व इम्यूनिटी को बढ़ावा देते हैं और सर्दी खांसी जैसे संक्रमण फैलाने वाले कीटाणुओं को शरीर पर हावी नहीं होने देते। इसके अलावा इसमें सूदिंग प्रॉपर्टी पाई जाती है, जो गले की खराश तथा छाती में जमे कफ को बाहर निकलने में आपकी मदद करती है।

cough se turant raahat deti hai kaali mirch
कफ से तुरंत राहत देती है काली मिर्च। चित्र: शटरस्टॉक

काली मिर्च और अदरक से बनी एक कप चाय आपकी इस समस्या में बेहद कारगर साबित हो सकती है। एक छोटे कप पानी में 10 से 12 हुई काली मिर्च और कसा हुआ एक छोटे अदरक का टुकड़ा डालें। अब इनमें अच्छी तरह उबाल आने दें, फिर पानी को छानकर अलग निकाल लें और इसमें आधा चम्मच शहद मिलाएं और इसे इसे गरमा गरम पिएं।

काली मिर्च का स्वाद बहुत से लोगों को पसंद नहीं होता, इसलिए इसमें अदरक और शहद मिलाने की सलाह दी जाती है। ताकि आप इसे आराम से इंजॉय कर सके। शहद और अदरक में भी एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज पाई जाती है, जो आपके गले की खराश एवं सर्दी खांसी की स्थिति में बेहद फायदेमंद होती है।

यह भी पढ़ें

रिफाइंड फ्लोर का हेल्दी विकल्प है सूजी, नाश्ते में ट्राई करें सूजी से बने ये टेस्टी व्यंजन

2. दालचीनी

दालचीनी को डायबिटीज और वेट लॉस के लिए प्रभावी मसाले के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, परंतु आपको बताएं कि यह आपके गले की खराश से लेकर सर्दी खांसी की समस्या को ट्रीट करने में भी बेहद प्रभावी रूप से कार्य कर सकता है। हालांकि, ज्यादातर लोग इसके कोल्ड फाइटिंग प्रॉपर्टी से वाकिफ नहीं होते। दालचीनी एंटीऑक्सीडेंट का एक बेहतरीन स्रोत है, इसके अलावा इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज भी पाई जाती हैं।

ये संक्रमण फैलाने वाले वायरस और बैक्टीरिया से लड़ते हैं, और शरीर पर इन्हें हावी नहीं होने देते। जिससे कि संक्रमण का खतरा कम हो जाता है और यदि आप पहले से संक्रमित हैं, तो वे और ज्यादा गंभीर नहीं होते। सर्दी खांसी और फ्लू को ट्रीट करने में दालचीनी की चाय आपकी मदद कर सकती है।


यह भी पढ़ें: ये 6 मॉर्निंग साइन्स देते हैं आपकी सेहत में गड़बड़ी के संकेत, आप सुबह उठकर कैसे महसूस करती हैं?

इसके लिए एक कप पानी में दालचीनी के दो छोटे स्टिक डालें और इनमें 10 से 15 मिनट तक अच्छी तरह उबाल आने दें। आप चाहे तो इनमें दो-चार लौंग भी डाल सकती हैं। जब यह उबल जाए तो इन्हें कप में निकाल लें और इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं और इसे इंजॉय करें। यह सर्दी खांसी को कम करने के साथ ही आपके गले की खराश को भी कम करेगा, यदि आपको कफ की समस्या है, तो यह जमें हुए कफ को लुब्रिकेंट करते हुए उन्हें बाहर निकलने में भी आपकी मदद करेगा।

CLOVE HAI BEHAD DAYDEMAND
इनफेक्शन के खतरे को कम कर देते हैं. चित्र : एडॉबीस्टॉक

3. लौंग

लौंग एक बेहद शक्तिशाली मसाला है, जिसका इस्तेमाल तमाम तरह की स्वास्थ्य समस्याओं को ट्रीट करने के लिए किया जाता है। लौंग में एंटी इन्फ्लेमेटरी कंपाउंड पाए जाते हैं, जो आपके गले की खराश, कफ और खांसी को कम करने में प्रभावी रूप से कार्य करते हैं। साथ ही साथ इसका सेवन आपकी इम्यूनिटी को भी बढ़ावा देता है, जिससे कि आपके शरीर के संक्रमित होने का खतरा कम हो जाता है। आप इसे अलग-अलग रूपों में अपनी डाइट का हिस्सा बना सकती हैं।


सर्दी खांसी और फ्लू में लौंग के इस्तेमाल का सबसे आसान तरीका है इसकी कलियों को चबाना। दो से तीन लौंग की कलियां लें और इन्हें अपने मुंह में रखी रहें, जैसे-जैसे यह सॉफ्ट होते जाएंगे आप इन्हे आसानी से चबा सकती हैं। इसके अलावा लौंग की चाय बनाने के लिए पानी को गर्म करें और इसमें 7 से 8 लॉन्ग की कलियां डाल दें, इनमें अच्छी तरह से उबाल आने दें, फिर इन्हे छानकर अलग निकाल लें और इसमें शहद मिलाकर इंजॉय करें। आप लौंग के तेल का इस्तेमाल भी कर सकती हैं, इसे अपने नाक के आसपास लगाएं जिससे की आपको बंद नाक और सर्दी से राहत मिलेगी।

cardamom
सर्दी खांसी की स्थिति में इन्हे डाइट में शामिल करने के लिए आप इनकी चाय तैयार कर सकती हैं। चित्र-शटरस्टॉक

4. हरी और काली इलायची

हरी और काली इलायची दोनों बेहद फायदेमंद हो सकती हैं। इन दोनों में एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल जैसे खास गुण पाए जाते हैं, जो इन्हे तमाम प्रकार की शारीरिक समस्याओं के लिए बेहद खास बनाते हैं। सर्दी खांसी और फ्लू की बात करें तो काली दालचीनी इसमें विशेष फायदे प्रदान कर सकती है। इसके सेवन से आपके गले को आराम पहुंचता है, साथ ही साथ इसके कंपाउंड्स सर्दी तथा खांसी को भी नियंत्रित करने में आपकी मदद करते हैं। इतना ही नहीं यदि आपको कफ की समस्या रहती है, तो यह कफ निकलने में भी प्रभावी रूप से कार्य करता है।


सर्दी खांसी की स्थिति में इन्हे डाइट में शामिल करने के लिए आप इनकी चाय तैयार कर सकती हैं। दो बड़ी इलायची को अच्छी तरह से कूट लें फिर इन्हें एक कप उबलते हुए पानी में डालें और इनमें लगभग 15 मिनट तक अच्छी तरह उबाल आने दें। उसके बाद पानी को छान कर निकाल लें। आप चाहे तो इसमें शहर भी मिला सकती हैं, इसके साथ ही आप काली मिर्च को सीधा मुंह में डालकर चबाकर भी इसकी गुणवत्ताओं का आनंद ले सकती हैं।

यह भी पढ़ें: ब्लड शुगर लेवल घटाने में मददगार साबित हो सकती हैं मोरिंगा की पत्तियां, एक्सपर्ट बता रहे हैं कैसे

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *