माता-पिता के लिए दुनिया के तमाम स्ट्रेस के अलावा बच्चों के खानपान के बारे में सोचना भी एक बहुत बड़ा स्ट्रेस ही है। खाने के मामले में बच्चे अपनी मर्जी के मालिक होते है और वे वही चीज़ खाते है, जो उन्हें दिखने में ‘टेम्पटिंग’ और खाने में ‘टेस्टी’ लगती है। खाने को परखने के इसी ‘टेम्पटिंग’ और ‘हेल्दी’ पैमानों के चलते बच्चे अब हेल्दी फूड्स से दूर और फास्ट फूड्स के काफी करीब पहुंच गए है।

वहीं, जब बहुत सारे ‘ईटिंग ऑप्शंस’ के साथ जब सर्दी का मौसम आता है, तो पैरेंट्स की टेंशन भी थोड़ी कम होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि सर्दी के दिनों में कई ऐसी चीज़े बाज़ार में दिखने लगती है, जिससे एक्सपेरिमेंट करके पैरेंट्स बच्चों के स्वास्थ्य को फायदा पहुंचा सकते है।

सर्दी में मिलने वाली इन्हीं चीज़ों में ‘गाजर’ भी आता है। अक्सर गाजर का नाम सुनते ही लोगों को ‘गाजर का हलवा’ याद आ जाता है लेकिन जब बात बच्चों की आती है, तो उन्हें मीठे से ज्यादा स्पाइसी और टेस्टी खाना पसंद होता है। अगर आप भी अपने बच्चों तक गाजर की गुणवत्ता पहुंचाना चाहतीं हैं और गाजर से बनने वाली तमाम डिशेज़ में कन्फ्यूज़ हैं, तो सेलिब्रिटी शेफ तरला दलाल की डिश ‘कैरेट चीज़ टोस्ट’ बनाकर बच्चों को सर्व कर सकतीं हैं।

गाजर में विटामिन ए, एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे तमाम पौष्टिक गुण होते है। चित्र-अडोबीस्टॉक

लेकिन उससे पहले जानिए बच्चों के लिए गाजर के फायदे

बड़ों सहित बच्चों के लिए भी गाजर एक फायदेमंद खाद्य पदार्थ है। यूनिवर्सिटी ऑफ मियामी के द्वारा की गई शोध के अनुसार, गाजर का सेवन आंखों के स्वास्थ्य को अच्छा बनाने के लिए बहुत आवश्यक है। गाजर में विटामिन A होता है जो बच्चों के नेत्र स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। गाजर खाने के लाभ बताते हुए क्लिनिकल डाइटीशियन प्राची पटेल बतातीं हैं कि ल्यूटिन और ज़ेक्सैन्थिन ऐसे घुलनशील एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो गाजर में पाए जाते है और कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।

1 पोषक तत्वों से लबरेज़ है गाजर

नेशनल सेंटर ऑफ़ बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च की एक रिपोर्ट के अनुसार, गाज़र में बहुत अधिक मात्रा में पोषक तत्व होते है जो बच्चों के विकास के लिए बहुत फ़ायदेमंद भी होते है। रिपोर्ट के अनुसार,
गाजर विटामिन A का अच्छा स्रोत है, जो बच्चों के आंखों के स्वास्थ्य के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।

इसके साथ ही गाजर में विटामिन C की भरपूर मात्रा होती है, जो एंटीऑक्सीडेंट्स के रूप में कार्य करता है और बच्चों में इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान करने में मदद करता है। वहीं, गाजर में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है जो बच्चों में पाचन को सुधारने सहित तमाम तरह की पेट संबंधी समस्याओं को हल करने में मदद करता है।

2 बच्चों में खांसी-जुकाम को दूर करता है गाजर

डायटीशियन प्राची बतातीं हैं कि गाजर एंटीऑक्सीडेंट्स का महत्वपूर्ण स्रोत है और साथ ही इसमें विटामिन C भी होता है, जो इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान कर सकता है। इसके अलावा, गाजर में बीटा-कैरोटीन भी होता है, जो विटामिन A (रेटिनॉल) में बदलकर बच्चों के इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

3 कच्चे की तुलना में पका हुआ गाजर अधिक फायदेमंद

डायटीशियन प्राची कहती है कि कच्चे के मुकाबले पका हुआ गाजर खाने से स्वास्थ्य को अधिक फायदे मिलते है। ऐसा इसलिए क्योंकि हमारा शरीर कच्चे गाजर के मुकाबले पके हुए गाजर के बीटा कैरोटीन को बेहतर ढंग से अवशोषित कर पाता है।

साथ ही जब गाजर पक जाता है, तो इसमें फाइबर की मात्रा भी बढ़ जाती है, जो आंतों के स्वास्थ्य के लिए बेहतर होती है। इसलिए बच्चों के लिए कच्चे गाजर से ज्यादा पका हुआ गाजर फायदेमंद होता है।

carrot cheese toast
बेहद आसान, पौष्टिक और स्वादिष्ट डिश है ‘कैरेट चीज़ टोस्ट’। चित्र-अडोबीस्टॉक

 

अब जानिए कैसे बना सकते है ‘कैरेट चीज़ टोस्ट’

कैरेट चीज़ टोस्ट बच्चों के लिए एक बेहद नई और पौष्टिक डिश है। यदि आप बच्चों को नई डिश बना कर खिलाती है, तो बच्चे बाहर के पिज़्ज़ा, बर्गर छोड़ आपसे हमेशा इस डिश की डिमांड ही करेंगे। कैरेट चीज़ टोस्ट बनाने के लिए आपको चाहिए:

गाजर (कैरेट), कद्दुकस किया हुआ
ब्रेड स्लाइसेस
चीज़ (इच्छानुसार आपकी पसंद का)
1 प्याज
1 टमाटर
ऑलिव ऑयल
नमक
काली मिर्च

कैरेट चीज़ टोस्ट बनाने के लिए सबसे पहले, गाजर को कद्दुकस करें या छोटे-छोटे टुकड़ों में काटें। उसके बाद एक पैन में थोड़ा ऑलिव ऑयल गरम करें और उसमें कटा हुआ गाजर, प्याज और टमाटर डाले।

गाजर को तब तक पकाएं जब तक वह ठोड़ा सा नरम नहीं हो जाता। अब ब्रेड स्लाइसेस को लें और उसमें गाजर, प्याज, टमाटर और चीज़ को अच्छे तरह से फैलाएं। इसके बाद प्री-हीटेड ओवन में लगभग 10 मिनट के लिए 200 डिग्री सेल्शियस पर बेक करें और उसके बाद पूरी तरह से टोस्ट हो जाने पर उसे प्लेट पर सजाकर उसपर ओरिगैनो, चिली फ्लेक्स और काली मिर्च से सीजनिंग करें। आपका ‘कैरेट चीज़ टोस्ट’ तैयार हैं! अब आप इसे अपने बच्चों के सामने सर्व कर सकतीं हैं।

यह भी पढ़ें: ब्रेस्ट और लंग्स कैंसर के खतरे को भी कम करता है गाजर का जूस, जानिए इसके और भी फायदे



Source link