एक्जिमा स्किन से जुड़ी हुई एक समस्या है, जिसमें स्किन में कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। इसलिए इस तरह की स्किन को विशेष देखभाल की जरूरत होती है। जानिए इसमें आपको क्या करना है और क्या नहीं।

त्वचा पर से पपड़ी जैसी परत उतरना और अधिक खुजली एक्जिमा के प्रमुख लक्षण हैं। यह त्वचा रोग एक बहुत ही जटिल रोग है और यह कई प्रकार का होता है। एक्जिमा आनुवंशिकी, पर्यावरण और कुछ मामलों में खाने की चीजों से भी ट्रिगर हो सकता है। स्किन प्रोबल्म से बचने के लिए आपको नॉर्मल स्किन केयर के अलावा कुछ अलग उपाय अपनाने की जरूरत होती है।


बुनियादी स्तर पर, एक्जिमा सबसे आम पुरानी सूजन वाली त्वचा की बीमारी है। जिसमें त्वचा की रुकावट और त्वचा से पानी की कमी बढ़ जाती है। इसके परिणामस्वरूप त्वचा में सूजन और खुजली होने लगती है। इस समस्या के कारण आपकी त्वचा का छिलना, लाल होना, जलन और उभरे हुए दाने हो सकते हैं। आप शरीर पर कहीं भी एक्जिमा का अनुभव कर सकते हैं, लेकिन यह विशेष रूप से गालों, घुटनों के पीछे, कोहनी और हाथों जैसे प्राकृतिक रूप से शुष्क क्षेत्रों पर होती है। क्योंकि वहां उतनी तेल ग्रंथियां नहीं होती। अधिक सूखापन और जलन के कारण एक्जिमा का इलाज करना मुश्किल हो सकता है।

इस समस्या के कारण आपकी त्वचा का छिलना, लाल होना, जलन और उभरे हुए दाने हो सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक

जानिए कितने प्रकार का होता है एक्जिमा

1 ऐटोपिक डरमैटिटिस

एटोपिक डर्मेटाइटिस एक्ज़ेमा का सबसे सामान्य प्रकार है। यह अक्सर बचपन में शुरू होता है और अस्थमा या हे फीवर जैसी एलर्जी स्थितियों के पारिवारिक इतिहास से जुड़ा हो सकता है। यह आम तौर पर चेहरे, हाथों के क्षेत्रों को प्रभावित करता है।


2 कॉन्टेक्ट डरमैटिटिस

यह रूप एक या अधिक स्किन केयर उत्पादों में से किसी के प्रति एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण होता है। इस प्रकार की एलर्जी प्रतिक्रिया आमतौर पर समय के साथ धीरे-धीरे सामने आती है और केवल उन उत्पादों पर होती है जिन्हें एक व्यक्ति ने कई बार इस्तेमाल किया है।

यह भी पढ़ें

इंटेस्टाइन को क्लीन करने में मदद करेंगे ये 3 तरह के डिटॉक्स ड्रिंक्स, जानें ये कैसे काम करते हैं

3 डिसहाइड्रोटिक एक्जिमा

डिसहाइड्रोटिक एक्जिमा, जिसे पोम्फॉलीक्स भी कहा जाता है, मुख्य रूप से हाथों और पैरों को प्रभावित करता है। यह हथेलियों, उंगलियों और पैरों के तलवों पर छोटे, खुजली वाले फफोले के रूप में होता है।

एक्जिमा के स्किन केयर के लिए हमने ज्यादा जानकारी के लिए क्लीनिक डर्माटेक की डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ कल्पना सोलंकी से संपर्क किया।

अगर आपको एक्जिमा तो स्किन केयर में रखें इन बातों का ध्यान

1 त्वचा की धीरे और आराम से सफाई करें

त्वचा को रूखा होने से बचाने के लिए हल्का क्लींजर का इस्तेमाल करें और तेल या क्रीम-आधारित ही कोई क्लींजर इस्तेमाल करें । सुपर-फोमी फेस वॉश में साबुन और सल्फेट्स हो सकते हैं जो त्वचा में जलन पैदा कर सकते हैं और आपके रंग को कड़ा बना सकते हैं।

चेहरे की सफाई आपको दिन में 2 बार करने की जरूरत नहीं है। शुष्क त्वचा या एक्जिमा वाली त्वचा पर तेल, जमाव और मेकअप को हटाने के लिए केवल एक बार सफाई करना ठीक है।


child eczema
एटोपिक डर्मेटाइटिस एक्ज़ेमा का सबसे सामान्य प्रकार है। चित्र शटरस्टॉक।

2 एक हल्का स्किन केयर रूटीन तैयार करें

सबसे पहली चीज ये है कि आपको एक सौम्य, जलन रहित स्किन केयर रूटिन बनाएं। जब एक्जिमा-वाली स्किन की बात आती है तो आपको बहुत कम चाजों की जरूरत होती है। इसलिए आपको कम से कम सामाग्री वाली उत्पादों का तलास करनी चाहिए।

आपको अपने लिए उतापदों को खरीदते समय किसी त्वचा विशेषज्ञ से भी प्रामर्श लेने की भी जरूरत पड़ सकती है। बाजार में कई ऐसे उत्पाद होते है जो एक्जिमा के लिए बेस्ट होने का दावा करते है। लेकिन आपको इस पर कुछ रिसर्च करने ती जरूरत हो सकती है।

3 स्किन को परेशान करने वाले उत्पादों से दूर रहें

भले ही आप रेटिनॉल और किसी एसिड वाली क्रीम का इस्तेमाल न कर रहे हो। फिर भी टोपिकल उत्पाद आपकी त्वचा में परेशानी कर सकते है। कई क्रीम ऐसी होती है जिसमें खुशबू होती है और इस कारण से वो स्किन में जलन पैदा कर सकते है। आपको ये सुनिश्चित करना चाहिए आपके द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले सभी उत्पाद ठीक हो और किसी भी तरह की कोई परेशानी न पैदा कर रहे हो।


जैसे की जब आपको किसी खाद्य पदार्थ से एलर्जी होती है तो आप उसे छोड़ देते है उसी प्रकार यदि आपको स्किन में किसी उत्पाद से किसी तरह की परेशानी है तो आपको उस उत्पाद को भी छोड़ देना चाहिए।

ये भी पढ़े- Angular Cheilitis : होठों के कोनों पर दरारें बढ़ने लगी हैं, तो जानिए इनका कारण और राहत के उपाय



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *