प्रोटीन के सबसे अच्छे स्रोतों में काले चने को भी गिना जाता है। जो लोग बॉडी या मसल्स बनाना चाहते है वे लोग इसे बहुत पसंद करते है। प्रोटीन आपके मसल्स को बनाने और उन्हें टोन करने में भी मदद करता है। बॉडी बिल्डिंग वाले कई लोग अपने प्रोटीन के इनटेक को पूरा करने के लिए प्रोटीन पाउडर के डिब्बों पर हजारों खर्च करते है लेकिन कई बार वो प्रोटीन भी नकली होते है। इसलिए आज हम आपके चने से ऐसी ड्रिंक बनाना बताते है जो आपके मसल्स बिल्डअप और वजन को बढ़ाने के इच्छुक लोगों के लिए मदद कर सकती है।

जो लोग अपने कम वजन से परेशान है और अपने वजन को बढ़ाना चाहते है वे इस ड्रिंक को आराम से पी सकते है। वैसे ये ड्रिंक भूने हुए चने को पाउडर बना बनाई जाएगी जिसे सत्तू भी कहा जाता है। सत्तू का शरबत बिहार और यूपी जैसे राज्यों में बहुत फेमस है। इसका शरबत लोग आमतौर पर गर्मियों में पीते है। लेकिन हम आपको इसे कुछ अलग तरह से शेक की तरह बनाना बताएंगे जो की प्रोटीन शेक का काम करेगा।

इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए हमने बात की डॉ. राजेश्वरी पांडा नें, डॉ. राजेश्वरी पांडा मेडिकवर अस्पताल, नवी मुंबई में पोषण और आहार विज्ञान विभाग की एचओडी है।

एक व्यस्क को प्रतिदिन 2000 कैलोरी के आहार में 50 ग्राम प्रोटीन को शामिल करना चाहिए।

क्या सत्तू को वर्कआउट ड्रिंक के रूप में ले सकते हैं

डॉ. राजेश्वरी पांडा बताती है कि हां, सत्तू आपका पसंदीदा प्राकृतिक प्रोटीन शेक हो सकता है।

वह आगे कहती हैं, यह पेट के लिए काफी अच्छा है जो पेट को ठंडा रखता है। यह प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है, जिसे पानी या दूध में घोलकर लिया जा सकता है । आप चाहे तो इसमें कई और चीजें भी मिला सकते है। जो शरीर को फिर ताकत देने में मदद करता है।

चूंकि सत्तू में फाइबर और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है और वसा की मात्रा बहुत कम होती है, इसलिए यह खराब तरीके से आपका वजन नहीं बढ़ाता है।

सत्तू में मौजूद मैग्नीशियम सूजन को कम करने, चयापचय को बढ़ावा देने और शरीर को अधिक कुशलता से कैलोरी बर्न में भी मदद कर सकता है।

सबसे पहले जानते है सत्तू के फायदे

प्रोटीन का अच्छा स्रोत है

सत्तू, भुने हुए चने से बना आटा है, यह पौधे-आधारित प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। दूध के साथ मिलाने पर यह एक प्रोटीन युक्त शेक बनाता है जो मांसपेशियों को हील और विकास के लिए फायदेमंद हो सकता है।

ऊर्जा बढ़ाने में मदद करता है

केले से कार्बोहाइड्रेट और केले और सत्तू दोनों में प्राकृतिक शर्करा तेजी से ऊर्जा को बढ़ाने में मदद कर सकती है। यह विशेष रूप से प्री-वर्कआउट ड्रिंक के रूप में या ऊर्जा के स्तर को फिर ऊपर लाने के लिए उपयोग किया जाने वाला नाश्ता हो सकता है।

पाचन स्वास्थ्य के लिए बेहतर

सत्तू और केले दोनों में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, जो पाचन में सहायता करता है और कब्ज को रोकने में मदद करता है। फाइबर हेल्दी गट माइक्रोबायोम का भी समर्थन करता है। इससे आपके पाचन को अच्छा करने में मदद मिलती है।

विटामिन और मिनिरल का खजाना

केले में विटामिन सी, विटामिन बी 6 जैसे आवश्यक विटामिन और मैंगनीज और मैग्नीशियम जैसे खनिज होते हैं। सत्तू विभिन्न विटामिन और मिनिपल भी प्रदान करता है, जो ड्रिंक को काफी स्वस्थ बनाता है।

protien ka karein sewan
इसमें फाइबर और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है और वसा की मात्रा बहुत कम होती है। चित्र- अडोबी स्टॉक

सत्तू का शेक कैसे बनाएं

सत्तू का शेक बनाने के लिए आपको चाहिए

काले भूने हुए चने 60 ग्राम
दुध 1 गिलास
1 केला
गुड़
2 खजूर

कैसे बनाए सत्तू का शेक

एक मिक्सर ग्राइंडर में भूने हुए काले चने को डालकर एक पाउडर बना लें।

इस पाउडर में अब दूध, केला, खजूर और गुड़ मिला लें।

फिर इसे ग्राइंडर में मिक्स कर लें, ये एक शेक जैसा बन जाएगा।

इस शेक को आप नारियल के साथ सजा कर परोस सकते है।

ये भी पढ़े- रागी है मेरी मम्मी का पसंदीदा विंटर ग्रेन, आप भी ट्राई करें ये 3 स्वादिष्ट और हेल्दी रागी रेसिपीज



Source link