आजकल बाजार में तरह-तरह के स्किन केयर प्रोडक्ट उपलब्ध हैं जो त्वचा संबंधी समस्याओं को कम कर त्वचा को प्राकृतिक ग्लो प्रदान करने का दावा करते हैं। इन केमिकल युक्त प्रोडक्ट से आपको जितने फायदे मिलते हैं लांग टर्म में ये उससे कहीं ज्यादा नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। टॉपिकली तो हम त्वचा पर कुछ भी अप्लाई कर सकते हैं, परंतु जब तक शरीर अंदर से डिटॉक्स नहीं होती तब तक त्वचा डल और बेजान ही रहती है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए आज हम आपके लिए लेकर आए हैं 5 प्रभावी मॉर्निंग स्किन डिटॉक्स ड्रिंक्स (skin detox drinks)। तो चलिए जानते हैं यह ड्रिंक हमारी त्वचा के लिए किस तरह काम करते हैं।

यहां हैं 5 डिटॉक्स ड्रिंक्स की रेसिपी (skin detox drinks)

1. टर्मरिक डिटॉक्स

हल्दी में मौजूद एंटीबैक्टीरियल, एंटी इन्फ्लेमेटरी और अन्य मेडिसिनल प्रॉपर्टी इसे त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए बेहद खास बना देती हैं। यह एक्ने, पिंपल को कम करते हुए त्वचा को प्राकृतिक निखार प्रदान करती है।

इस मॉर्निंग डिटॉक्स ड्रिंक को बनाने के लिए एक कप पानी में हल्दी की 2 से 3 इंच की स्टिक डाल दें, पानी को 3 से 4 मिनट तक अच्छी तरह से उबलने दें। उसके बाद इसमें आधा चम्मच नींबू का रस और आधा चम्मच शहद मिलाएं और इसे इंजॉय करें। उचित परिणाम के लिए हर सुबह नियमित रूप से इसका सेवन करना जरूरी है।

बढ़ रहे तापमान में बॉडी टेमपरेचर को नियंत्रित करने में ऐसे फल और सब्जियों का रस पीएं, जिनकी तासीर शीतल हो। चित्र : शटरस्टॉक

2. विटामिन सी डिटॉक्स ड्रिंक

विटामिन सी में एंटी एजिंग प्रॉपर्टी पाई जाती है। यह त्वचा को प्यूरिफाई करने में मदद करती है और त्वचा संबंधी समस्याएं जैसे कि एक्ने, पिंपल, ओपन पोर्स में प्रभावी रूप से काम करती है। इसके अलावा यह आपके शरीर को टॉक्सिक केमिकल्स से प्रोटेक्ट करते हुए इम्यूनिटी बूस्ट करने में भी मदद करती है। इसे बनाने के लिए एक जार में पानी लें उसमें नींबू, अनानास, कीवी और संतरा के कुछ टुकड़े डालें और इसे अच्छी तरह शेक कर लें। फिर रातभर के लिए रखकर छोड़ दें सुबह उठने के बाद अपनी मॉर्निंग डिटॉक्स ड्रिंक को इंजॉय करें।

यह भी पढ़ें : Healthy Eating Habits : वेट लॉस में जिम या एक्सरसाइज से भी ज्यादा मददगार हो सकती हैं खानपान की ये 5 आदतें

3. खीरा और तुलसी की पत्तियों से बना डिटॉक्स ड्रिंक

खीरा और तुलसी की पत्तियों से बने इस ड्रिंक का नियमित सेवन त्वचा स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है साथ ही साथ ऑयल प्रोडक्शन को भी इंप्रूव करता है, जो इस मौसम में बेहद महत्वपूर्ण है। इसके साथ ही तुलसी की पत्तियों में एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबॉयल प्रॉपर्टी पाई जाती है। वहीं खीरा पोटेशियम से भरपूर होता है, जो शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा सोडियम को बाहर कर फ्लोएड बैलेंस को बनाए रखता है।

इसे बनाने के लिए एक खीरा लें उसे छोटे टुकड़ों में काट लें। 8 से 10 तुलसी की पत्तियों को क्रश करें और इन दोनों को एक बोतल पानी में डालकर 2 से 3 घंटे के लिए छोड़ दें। आप चाहें तो इसे रात भर के लिए पानी में छोड़ सकती हैं। सुबह अपनी इस मॉर्निंग डिटॉक्स ड्रिंक को इंजॉय करें।

अपने संपूर्ण स्वास्थ्य को ट्रैक करें! हेल्थशॉट्स ऐप डाउनलोड करें

4. मल्टीटास्कर डिटॉक्स ड्रिंक

नारियल पानी और खीरे का कॉन्बिनेशन आपकी त्वचा के लिए कमाल कर सकता है। आप इसे टोनर के रूप में भी इस्तेमाल कर सकती हैं। यह बॉडी को डिटॉक्स करने के साथ-साथ पर्याप्त हाइड्रेशन प्रदान करता है। इसके साथ ही इसमें मौजूद विटामिन सी इम्यूनिटी को मजबूत बनाते हैं और त्वचा को प्राकृतिक ग्लो प्रदान करते हैं।

इसके लिए खीरे को ब्लेंड कर लें और एक गिलास नारियल पानी में इसे मिला दें। नियमित रूप से रोज सुबह इसका सेवन करें त्वचा पर कमाल का ग्लो नगर आएगा। यदि आप इसे ठंडा करना चाहती हैं तो 15 से 20 मिनट के लिए रेफ्रिजरेटर में रख सकती हैं।

fenugreek seeds
मेथी के बीज रहेंगे फायदेमंद। चित्र शटरस्टॉक।

5. मेथी के बीज से बनाएं डिटॉक्स वॉटर

विटामिन के और विटामिन सी से भरपूर मेथी के बीच त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। इनमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी पाई जाती है, जो स्किन एक्ने और पिंपल्स की समस्या में कारगर होते हैं। इसके साथ ही यह फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को कम करते हुए स्किन इनफेक्शन, डार्क स्पॉट इत्यादि जैसी समस्या को कम कर देती है।

इस ड्रिंक को बनाने के लिए आपको एक चम्मच मेथी के बीज को लगभग 2 गिलास पानी में रात भर के लिए भिगो कर छोड़ दें और सुबह इस पानी को छानकर अलग कर लें। सुबह खाली पेट इसे इंजॉय करें, उचित परिणाम के लिए इसका नियमित सेवन जरूरी है।

यह भी पढ़ें : सबसे पौष्टिक पेय है नारियल का पानी, इन 6 आसान तरीकों से करें इसे अपनी डेली डाइट में शामिल



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *