यदि आपको बार-बार पाचन संबंधी समस्याएं हो रही हैं, या आपको कब्ज की समस्या रहती है, तो हो सकता है आपके इंटेस्टाइन को डिटॉक्स की आवश्यकता हो। इन्हें कुछ खास ड्रिंक के माध्यम से क्लीन किया जा सकता है।

तरह-तरह के जंक, ऑयली और फ्राइड फूड्स के अलावा हम सभी कई ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं, जिन्हें पचाना मुश्किल होता है। इन सभी खाद्य पदार्थों में टॉक्सिंस मौजूद होते हैं, जो इंटेस्टाइन को प्रभावित करते हैं। आंतो में टॉक्सीसिटी बढ़ने से आपको पाचन संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसे में समय-समय पर इंटेस्टाइन को क्लीन करते रहना बहुत जरूरी होता है, जिसके लिए आप कुछ खास डिटॉक्स ड्रिंक्स की मदद ले सकती हैं। आज हम बात करेंगे ऐसे ही कुछ खास ड्रिंक्स के बारे में जो इंटेस्टाइन को क्लीन करने में आपकी मदद करेंगी।


योगा इंस्टीट्यूट की डायरेक्टर और भारतीय योग गुरु हंसा जी योगेंद्र ने इंटेस्टाइन को साफ करने के लिए कुछ खास ड्रिंक्स के नाम सुझाए हैं (Methods to clear gut)। तो चलिए जानते हैं, यह आपकी आतों को किस तरह से साफ करते हैं।

यहां हैं कुछ प्रभावी ड्रिंक्स (Methods to clear gut)

1. साॅल्ट वॉटर फ्लश

साल्ट वॉटर फ्लश आंतों को साफ करने में मदद करता है। यह आंतों में जमे टॉक्सिंस को रिमूव कर पाचन क्रिया के वेस्ट पदार्थों को बाहर निकाल देते हैं, और इसे स्वस्थ रखते हैं।

मेटाबॉलिज्म स्पीड अप होने से आप अधिक एक्टिव रह सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉक

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए

गर्म पानी
पिंक साल्ट
नींबू का रस

यह भी पढ़ें

लाइफस्टाइल में इन 6 बदलावों के साथ रिवर्स की जा सकती है एजिंग, जानिए ये कैसे काम करते हैं

इस तरह तैयार करें

पानी को गर्म कर लें, अब इसमें नमक और नींबू का रस मिलाएं। इन्हे अच्छी तरह से मिला ले और एंजॉय करें। यह आपके आंतों को डिटॉक्स करने के साथ ही इम्यूनिटी को भी बूस्ट करेगा साथ ही आपकी स्किन के लिए भी अच्छा है।

2. एप्पल साइडर विनेगर और शहद

एप्पल साइडर विनेगर नेचुरल क्लींजर के तौर पर काम करता है, वहीं शहद और एप्पल साइडर विनेगर के कॉन्बिनेशन का गट फ्लोरा पर भी सकारात्मक असर होता है। यह गट माइक्रोबायोम को बनाए रखता है, जिससे कि हेल्दी बैक्टीरियल ग्रोथ बरकरार रहता है। इसमें प्रोबायोटिक्स के गुण पाए जाते हैं, जो आंत को डिटॉक्स करने में मदद करते हैं।


यह भी पढ़ें: अपने पसंदीदा ब्रेकफास्ट ओट्स को और भी हेल्दी और फिलिंग बनाना है, तो उसके साथ एड करें ये 5 सुपरफूड्स, हम बता रहे हैं फायदे

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए

गुनगुना पानी
शहद
एप्पल साइडर विनेगर

इस तरह तैयार करें

एक गिलास गुनगुने पानी में दो चम्मच ऑर्गेनिक शहद और दो चम्मच एप्पल साइडर विनेगर डालें। इसे एक साथ अच्छी तरह मिला लें और अपनी डाइट में शामिल करें। इसे रात को बेड पर जाने से पहले पिएं, इससे आपके आंतों को साफ करने में मदद मिलेगी।

ACV
इसे पानी और निम्बू में मिला एंजॉय कर सकती हैं। चित्र : शटरस्टॉक

3. स्पाइसी लेमोनेड

स्पाइसी लेमोनेड एक प्रकार की नेचुरल कोलन क्लींजिंग रेसिपी है, जो बेहद डिलीशियस और हेल्दी होती है। इन्हें बनाने में इस्तेमाल हुई सभी सामग्री इंटेस्टाइन को साफ करने के साथ ही सेहत को कई अन्य रूपों में भी फायदे प्रदान करती है। यदि आपको कब्ज की शिकायत रहती है, तो आपको इन्हें अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए

शहद
नींबू का रस
काली मिर्च
अदरक
गुनगुना पानी
हल्दी

इस तरह तैयार करें

एक कप पानी में काली मिर्च और अदरक डालकर अच्छी तरह उबाल आने दें। पानी को छानकर अलग कर लें, इसमें शहद, नींबू का रस और हल्दी पाउडर डालकर एक साथ अच्छी तरह मिलाएं। अब इसे गर्मा गरम एंजॉय करें। यह इंटेस्टाइन को क्लीन करने के साथ ही बॉवेल मूवमेंट को रेगुलेट करती हैं, जिससे कब्ज की समस्या नहीं होती। साथ ही यह बॉडी टॉक्सिंस को भी रिमूव कर देती है और त्वचा के लिए बेहद कारगर साबित हो सकती है।


dushit paani se bhi zoonotic disease fail sakti hain
समग्र सेहत के लिए बहुत जरुरी है गट हेल्थ। चित्र: शटरस्टॉक

जानें आंतों को डाइटॉक्स करने के अन्य टिप्स

इंटेस्टाइन को डिटॉक्स करने के लिए इन प्रभावी ड्रिंक्स को डाइट में शामिल करने के साथ ही सबसे महत्वपूर्ण है खुद को हाइड्रेटेड रखना। पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं और हैडरेटिंग फल एवं सब्जियों का सेवन करें। इससे आंत की टॉक्सिंस को बाहर निकालने में मदद मिलेगी। साथ ही साथ आपका पाचन प्रक्रिया भी बेहतर होगा।

इसके अलावा फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे की फल, सब्जियां, नट्स, सीट्स, ग्रेंस आदि को अपनी नियमित डाइट का हिस्सा बनाएं। यह सभी इंटेस्टाइन को क्लीन करने में आपकी मदद करते हैं और कब्ज और अपच आदि जैसे आंतों से संबंधित समस्याओं से छुटकारा पाने के प्रभावी उपाय साबित हो सकते हैं।

इसके अलावा आपको अपनी डाइट में प्रोबायोटिक को शामिल करने की आवश्यकता होती है, यह गट माइक्रोबायोम में हेल्दी बैक्टीरियल ग्रोथ को बढ़ावा देता है, जिससे कि इंटेस्टाइन हेल्दी रहती है।

यह भी पढ़ें: डियर मॉम, इन 4 वजहों से आपको अपने बच्चों को नहीं खिलानी चाहिए रेडीमेड सोया चाप



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *