नई दिल्ली:

RATAN TATA Quotes: भारत के जानें मानें उद्योगपति और टाटा एंड संस के चैयरमेन रतन टाटा आज 86 साल के हो गए हैं. उनका जन्म 28 दिसंबर 1937 को मुंबई में हुआ था. उनके माता का नाम सोनी टाटा और पिता का नाम नवल टाटा है. आज भारत ही नहीं पूरी दुनिया में लोग उनके काम की सराहना करते हैं. उन्होंने आम लोगों के लिए काफी काम किया है. इसके साथ ही जब भी देश को जरूरत होती है वो सबसे आगे खड़े दिखाई देते हैं.

भारत रत्न की मांग

इंडस्ट्रिलिस्ट रतन टाटा ने अपने जीवन में कई मुकाम हासिल किए हैं. इसके साथ ही उनके कई एनजीओ और ट्रस्ट चल रहे हैं जिसके जरिए वो जनता के लिए भलाई का काम करते रहते हैं. लोग उनकी काफी सम्मान करते हैं. यहां तक की इफोसिस के चैयरमेन एन नारायणमूर्ति ने भी एक कार्यक्रम के दौरान टाटा साहब के पैर छूए थे. इन सभी कामों को देखते हुए भारत सरकार की ओर से उन्हें देश दो सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा है. उन्हें पद्म भूषण जिसे साल 2000 में दिया गया और दूसरा पद्म विभूषण है जिसे 2008 में दिया गया. इसके साथ ही लोग अब देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न दिए जानें की मांग समय- समय पर करते रहे हैं.

उद्योगपति रतन टाटा के 10 प्रेरणादायक quotes

1. “जीवन में उतार-चढ़ाव हमें मजबूत बनाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि ईसीजी में भी एक सीधी रेखा होती है जिसका मतलब कि हम जीवित नहीं हैं.”

2. “एक दिन आपको महसूस होगा कि भौतिक चीज़ों का कोई मतलब नहीं है. जो महत्तवपूर्ण है, वो उन लोगों की भलाई है जिनसे आप प्यार करते हैं.”

3. “बेस्ट लीडर वो हैं जो अपने से अधिक बुद्धिमान सहायकों और सहयोगियों के साथ घिरे रहना सबसे अधिक पसंद करता है.” 

4. मैं काम और जीवन में संतुलन बनाएं रखने में विश्वास नहीं करता. मैं कार्य-जीवन एकीकरण में विश्वास करता हूं. अपने काम और जीवन को सार्थक और संतुष्टिलायक बनाएं, और वे एक-दूसरे के पूरक होंगे.”

5. सबसे बड़ा रिस्क कोई रिस्क नहीं लेना है. ऐसी दुनिया में जो तेज़ी से बदल रही है, जोखिम न लेना ही एकमात्र उपाय है जिसके विफल होने की गारंटी है.”

6. “चुनौतियों का सामना करते समय दृढ़ और लचीले रहें, क्योंकि ये सफलता की आधारशिला है.”

7. “दूसरों के साथ अपनी बातचीत के दौरान दया, सहानुभूति और करुणा की शक्ति को कभी कम मत आंकों.”

8.”आपके पास हमेशा एक कंफर्टेबल लाईफ नहीं हो सकता है, और आप हमेशा दुनिया की सभी समस्याओं को ठीक नहीं कर सकते हैं लेकिन आपके पास जो है उसका महत्व कभी भी कम मत समझो, क्योंकि इतिहास ने हमें दिखाया है कि साहस संक्रामक हो सकता है, और आशा कर सकती है अपना जीवन स्वयं अपनाएं.”

9. “नेतृत्व जिम्मेदारी लेने के बारे में बताती है न कि बहाने बनाने के बारे में नहीं.”

10) “अवसर आने का इंतज़ार मत करो, अपने लिए अवसर स्वयं बनाओ.”

.



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *