गरुड़ पुराण नीति: हिंदू धर्म के प्रसिद्ध धार्मिक ग्रंथों में गुरु पुराण एक है। गरुड़ पुराण को 18 महापुराणों में से एक माना जाता है। इसमें बताई गई बातों का हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। गरुड़ पुराण में मृत्यु से पहले और मृत्यु के बाद की स्थिति को भगवान विष्णु द्वारा विस्तारपूर्वक बताया गया है। गरुड़ पुराण ऐसा ग्रंथ है जिसमें ना सिर्फ मौत का रहस्य बल्कि जीवन के रहस्य को लेकर भी गूढ़ बातों का जिक्र किया गया है। इसी के साथ गरुड़ पुराण में कुछ ऐसी महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं, जिनके पालन करने पर किसी व्यक्ति के जीवन में कभी भी हार का मुख नहीं दिखेगा।

संयम, शौक और चतुरता- गरुण पुराण की नीति के अनुसार शत्रुओं को कभी भी हल्के में नहीं लेना चाहिए। शत्रु चतुर होते हैं और शत्रु को अन्य की नीति के अनुसार नष्ट किया जा सकता है। शत्रु से निपटने के लिए व्यक्ति को संयम और एकाग्रता के साथ चतुरता का भी सहयोग लेना पड़ता है। क्योंकि नष्ट होकर आपको लगातार नुकसान पहुंचाने का ही प्रयास करते हैं। यदि आप इनमें प्रति चतुरता नहीं दिखा रहे हैं तो ये आपको पराजित भी कर सकते हैं और आपको नुकसान हो सकता है।

अभ्यास- आप कितना भी ज्ञानी क्यों ना हों। समय-समय पर अभ्यास अवश्य करें। प्रयोग ना करने पर आपका विद्या नष्ट हो सकता है। इसलिए ज्ञान और विद्या का अभ्यास ना करने पर लोग भूलते चले जाते हैं। गरुड़ पुराण में कहा गया है कि हमें उसकी जो भी प्रैक्टिस करनी चाहिए, वह हमें जरूर करनी चाहिए। इससे वह ज्ञान हमारे मस्तिष्क में अच्छे से बैठ जाता है।

धर्म का करें सम्मान- व्यक्ति को अपने धर्म का सम्मान करना चाहिए। गरुड़ पुराण के अनुसार जो व्यक्ति धर्म का सम्मान नहीं करता उसे नरक में स्थान प्राप्त होता है। गरुड़ पुराण में बताया गया है कि धार्मिक स्थलों को छेड़ने वाले, धोखे देने वाले, धर्म, वेद, पुराण और शास्त्रों के अस्तित्व पर सवाल उठाने वाले लोग नरक की शोधन से बच नहीं सकते हैं।

समाचार रीलों

ये भी पढ़ें: मार्गशीर्ष व्रत-त्योहार 2022: मार्गशीर्ष माह का शुक्ल पक्ष आज से शुरू, जानें इसमें आने वाले बड़े व्रत-त्योहार की तिथि

अस्वीकरण: यहां देखें सूचना स्ट्रीमिंग सिर्फ और सूचनाओं पर आधारित है। यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी विशेषज्ञ की जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित सलाह लें।

.



Supply hyperlink

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *