Halloween 2023: हर साल अक्टूबर की 31 तारीख को हैलोवीन मनाया जाता है. हैलोवीन ज्यादातर यूरोप और अमेरिका के देशों में मनाया जाता है. हैलोवीन का नाम लेते ही भूतिया चेहरे और कद्दू का जिक्र आता है. हैलोवीन के दौरान लोग कद्दू को खोखला करके  उसमें आंखे, नाक, मुंह या उसको डरावना बनाकर उसके अंदर कैंडिल रखते हैं, ताकि वो अंधेरे में और डरवाना लगे. इन कद्दूओं को हैलोवीन कहा जाता है.

क्यों मनाया जाता है हैलोवीन (Why Halloween Is Celebrated ?)

ईसाई समुदाय में 31 अक्टूबर को सेल्टिक कैलेंडर का आखिरी दिन माना जाता है. अगले दिन से नए साल की शुरुवात मानी जाती है.माना जाता है इस दिन भूतों के गेटअप में कपड़े पहनने से, भूतों की तरह तैयार होने से पूर्वजों की आत्माओं को शांति मिलती है. इस दिन मरे हुए लोगों की आत्माएं उठती है और धरती पर प्रकट हो कर जीवित आत्माओं के लिए परेशानी पैदा करती हैं. इन बुरी आत्माओं से डर भगाने के लिए लोग डरावने या भूतिया कपड़े पहनते हैं .हेलोवीन के गेटअप में तैयार होते हैं.इन्‍हें भगाने के लिए हर जगह आग जलाकर उसमें मरे हुए जानवरों की हड्डियां उसमें फेंकी जाती है.

हैलोवीन में कद्दू का महत्व (Significance of Pumpkin in Halloween?

इस दिन बच्चे ट्रिक और ट्रीट (Trick or Deal with) कहते हैं, इस फैस्टिवल पर लोग एक दूसरे को घर-घर जाकर कैंडी गिफ्ट करते हैं. इस दिन पर खास बच्चे कॉस्ट्यूम पहनकर, डरावना मेकअप लगाकर मास्क पहनकर निकलते हैं. इस दिन बच्चे अपने हाथ में कद्दू (Pumpkin) रखते हैं जिसमें आंख , नाक और मुंह बनाकर उसके अंदर कैंडल रखते हैं और सभी कद्दू बाद में दफना दिए जाते हैं. ऐसा माना जाता है किसानों की मान्यता के अनुसार इस दिन बुरी आत्माएं खेत में आकर उनकी फसल को नुकसान पहुंचा सकती हैं इसीलिए कद्दू में कैंडिल जाकर आत्माओं को रास्ता दिखाया जाता है.

Chandra Grahan 2023: 28 अक्टूबर को लगेगा साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, इन राशि वालों को मिलेगा सबसे ज्यादा लाभ

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

.



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *