कील-मुहासों से परेशान हैं तो आपके लिए बेस्ट रहेगी ऐसी क्रीम, लोशन और फेसवॉश


मुँहासे प्रवण त्वचा के लिए सर्वश्रेष्ठ उत्पाद: ऐक्ने की समस्या उन लोगों को अधिक होती है, हर दिन स्किन ऑइली (तैलीय त्वचा) होती है। त्वचा पर बार-बार तेल जैसा स्नेह दिखाई देता है। इस स्नेहक को सीबम कहते हैं। अधिक सीबम आने के कारण त्वचा के रोम छिद्र (स्किन पोर्स) बंद हो जाते हैं और पसीने और धूल-मिट्टी के काले हो जाते हैं, त्वचा की डेड जंप आदि परस्पर ऐक्ने (मुँहासे) यानी कील-मुहासों (मुँहासे) के रूप में ले जाते हैं।

ऐसे लोगों को अपने चेहरे पर कौन-सी क्रीम, लोशन और स्किन केयर चढ़ना चाहिए ताकि उनका चेहरा बेदाग और निखरा बन सके, इसके बारे में यहां बताया जा रहा है। आप अपनी त्वचा पर लगाने वाले खरीदे हुए समय इस बात का ध्यान रखें कि जिन इंग्रीडिएंट्स के बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं, ये आपकी क्रीम, लोशन आदि हैं या नहीं…

ऐक्ने हटाने के लिए क्या जहर

कोई भी त्वचा केयर खरीते समय आप इंग्रीडिएंट्स की इस सूची पर ध्यान दें और चेक करें कि इनमें से कम से कम दो या तीन चीजें उनमें से निश्चित रूप से जानी जानी चाहिए, जिसे आप अपनी त्वचा पर लगाने के लिए खरीद रहे हैं…

समाचार रीलों

  • लेक्टो कैलामाइन (लैक्टो कैलामाइन)
  • करक्यूमिन (Curcumin)
  • बेंज़ॉयल पेरोक्साइड (बेंज़ॉयल पेरोक्साइड)
  • टी ट्री ऑयल (टी ट्री ऑयल)
  • विटामिन- सी (विटामिन सी)
  • सैलिसिक एसिड एसिड (सैलिसिलिक एसिड)
  • अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड (अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड)
  • सल्फर (सल्फर)
  • एज़ेलिक एसिड (एज़ेलिक एसिड)

कील मुहासे कैसे हटेंगे?

  • जरूरी नहीं है कि यहां दिखाएं सभी इंग्रीडिएंट्स आपकी क्रीम या लोशन में हों। लेकिन इनमें से दो या तीन इंग्रीडिएंट होना जरूरी है।
  • ये इंग्रीडिएंट त्वचा के लिए पोषक तत्वों की तरह काम करते हैं या कहिए कि आपकी त्वचा के भोजन होते हैं।
  • इन्हें त्वचा पर लगाने से सीबम कम बन जाता है, जिससे चेहरे पर चिकनाई कम हो जाती है और रोमछिद्र भी बंद नहीं होते।
  • ये इंग्रीडिएंट्स त्वचा पर मृत कोशिकाओं को जमने नहीं देते हैं। इससे पिंपल और ऐक्ने पैदा करने वाले बैक्टीरिया की संभावना काफी कम हो जाती है।
  • इस तरह से व्यूह खरीदने के बाद आप एक दिन में दो बार अपनी त्वचा पर जरूर चमकते हैं। रात को सोने से पहले इन्हें लगाने से जल्दी रिजल्ट मिलता है।

अस्वीकरण: इस लेख में बताए गए तरीके, विभिन्न विभिन्न को केवल सुझाव के रूप में लें, एबीपी न्यूज इसकी पुष्टि नहीं करता है। इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट और सलाह पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़ें: हार्ट दुर्घटना की वजह बन सकता है ब्यूटी पार्लर स्ट्रोक सिंड्रोम, पार्लर में हेयरवास से पहले जानें ये जरूरी बात

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

.



Supply hyperlink

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *