मुंहासों की समस्या से ज्यादातर युवा पीड़ित होते हैं। इससे राहत पाने के लिए कुछ नहीं किया, लेकिन फिर भी ये ढीट की तरह कई बार बने रहें। एक शोध में पता चला है कि ब्रिटेन के 11.5 वर्षीय वयस्क मुंहासों की समस्या से जूझ रहे हैं। क्लिक2फार्मेसी द्वारा किए गए एक खोज के अनुसार, एक तिहाई लोगों को अपनी जिंदगी में कभी न कभी पिंपल्स यानी मुंहासे का सामना करना पड़ा। इसी शोध में यह भी पाया गया कि 2022 जनवरी से 12 महीनों के दौरान एनएचएस इंग्लैंड ने मुहांसों के इलाज पर 22.7 मिलियन पाउंड (2.28 अरब भारतीय रुपये) खर्च किए।

एस्थेटिक डॉक्टर डेविड जैक कहते हैं कि मुंहसे व्यस्कता में देखी जाने वाली त्वचा की सबसे आम समस्या है। उन्होंने त्वचा में सूजन की स्थिति के बारे में कहा कि अक्सर इसकी वजह साफ नहीं होती है, लेकिन कुछ लोगों में ऐसी वजहों की पहचान की जा सकती है, इस वजह से मुंहासे की स्थिति ज्यादा खराब हो जाती है। उनका कहना है कि मुंहासे ब्लॉक ग्लैंड्स में पी. एक्ने या सी. एक्ने नाम के बैक्टीरिया के स्किन कोलोनिसेशन से जुड़े हैं, जो सूजन, ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स का कारण बनता है। 

डेयरी उत्पादों का खतरनाक उपयोग

महिलाओं में पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस), स्मोकिंग, स्ट्रेस, फैमिली हिस्ट्री और स्किनकेयर प्रोडक्ट्स मुंह से समस्या पैदा करने वाले कारक बन जाते हैं। डॉ डेविड स्टेटमेंट हैं कि आंत के स्वास्थ्य और सूजन और मुंहासे के बीच संबंध की वजह से भी यह समस्या पैदा हो सकती है। इसके अलावा, अगर आप दायरे का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तो भी मुंहासे आपको परेशान कर सकते हैं। वे कहते हैं कि एंटीऑक्सिडेंट-रिच फूड में फाइबर रंग के फल और वनस्पतियां, हरी पत्ते और कुछ हेल्दी चाय शामिल हैं। ये त्वचा के सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं और मुंहासे के नुकसान को कम कर सकते हैं। देता है। इसके अलावा, वे उन पदार्थों को भी अवॉइड करने की सलाह देते हैं, जिन्हें फ्री और ग्रिल्ड किया जाता है। क्योंकि ये रिएक्टिव मॉलिक्यूलर और एडवांस्ड ग्लाइकेशन एंड प्रोडक्ट्स (AGEs) हाई होते हैं। इसलिए स्टीमिंग खाना पकाने की टेक्निक सबसे ज्यादा पसंद की जाती है।

ज्यादा तनाव भी एक कारण है

मुंहासों की समस्या के लिए कई बार ज्यादा तनाव भी जिम्मेदार होता है होता है। एडल्ट के मुंहासों का संबंध तनाव के स्तर में वृद्धि से लाल हो रहा है। इसलिए एडाप्टोजेंस और नॉट्रोपिक्स जैसे स्ट्रेस के संतुलन को संतुलित करने में मदद कर सकते हैं। इन रिकॉर्ड्स को वीडियो वीडियो से प्राप्त किया जा सकता है। इसमें अश्वगंधा और कुछ अंग जैसे- एडाप्टजेन्स शामिल हो सकते हैं, जो शरीर को स्ट्रेस और ट्रेंशन मुक्त ज्वलनशील बनाते हैं।

इसके अलावा आप अपने शेनन रूट को भी वायलेट कर सकते हैं। कुछ उत्पाद और इंग्रेडिएंट ज्यादा अच्छे रिजल्ट देते हैं और मुंह से कम करने में मदद करते हैं। डॉ डेविड एक ऐसा क्लीन्ज़र की तलाश करने की सलाह देता है, जिसमें कई प्रकार के तत्व होते हैं।  

ये भी पढ़ें: ‘तुम खून दो, मैं आजादी दूंगा’, नेताजी की जयंती पर पढ़ें उनके 10 आइकॉनिक कोट

.



Supply hyperlink

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *