[ad_1]

New Delhi:

देश में इन दिनों सर्दियां काफी पीक पर हैं. देश की राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. ऐसे में सर्दी से बचाव के लिए हम अपने आपको गर्म और ऊनी कपड़ों में कवर कर लेते हैं. सर्दियों में ऊन है जो हमें ठंड से बचाती है. अब ये तो सभी को बता है कि ऊन बनती कैसे हैं. लेकिन इसकी जानकारी कम लोगों को ही है, कि ऊन कितने प्रकार की होती है और सबसे ज्यादा महंगी ऊन कौन सी है.  इसके साथ ही सबसे महंगी ऊन के प्राइज और उसकी खासियत जानना भी लोगों की जिज्ञासा का विषय रहा है.

यह खबर भी पढ़ें- Ram Mandir Pran Pratishtha: रामलला प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर क्या बोले PM, जानें भाषण की 10 बड़ी बातें

ऊन कितनी तरह की होती है और सबसे महंगी ऊन कहां की होती है, इसके बारे में जानकारी निम्नलिखित है:

ऊन की विभिन्न प्रजातियां:

शातोश ऊन:

शातोश ऊन एक प्रमुख प्रजाति है जो सबसे आम है.
इसकी फाइबर बहुत ही मुलायम और मजबूत होती है.

मेरीनो ऊन:

मेरीनो ऊन कुछ सबसे मुलायम और रंगीन ऊनों में से एक है.
इसका उत्पाद आमतौर से ऑस्ट्रेलिया के मेरीनो भेड़ों से होता है.

यह खबर भी पढ़ें- Ram Mandir Pran Pratishtha: अयोध्या में विराजे राम, PM की उपस्थिति में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा संपन्न

कश्मीरी ऊन:

कश्मीरी ऊन, जिसे पश्मीना भी कहा जाता है, कश्मीर से प्राप्त होती है.
इसकी विशेषता उसकी बेहद मुलायमता और उन्नत गुणवत्ता है.

ल्याम्ब्स ऊन:

ल्याम्ब्स ऊन ल्याम्ब्स (गुद्दे) से प्राप्त होती है.
इसकी खासियत उसकी बहुत रबुस्टता और भारी गुणवत्ता है.

यह खबर भी पढ़ें- Ayodhya Ram Mandir: आम आदमी के लिए कब खुलेगा राम मंदिर? कितना लगेगा शुल्क…जानें पूरी प्रक्रिया

सबसे महंगी ऊन:

सबसे महंगी ऊन में से एक विकल्प कश्मीरी पश्मीना (कश्मीरी ऊन) है. यह ऊन भारत के कश्मीर क्षेत्र से प्राप्त होती है और उसकी मुलायमता, रंगीनता, और विशेष बनावट के लिए मशहूर है. कश्मीरी पश्मीना की खासियत यह है कि इसे हाथ से बनाया जाता है, जिससे इसमें एक विशेष भारतीय हस्तशिल्प का अहसास होता है. इसकी बुनाई और उसके रूपांतरण की प्रक्रिया में कई महीने लग सकते हैं, जिससे इसकी मूल्यवर्धिता बढ़ती है.

कश्मीरी पश्मीना की उच्च गुणवत्ता, विशेष बनावट, और इसके उत्कृष्ट विलिनता के कारण यह ऊन सबसे महंगी ऊनों में से एक मानी जाती है.

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *