[ad_1]

Moong vs Urad Dal: दाल चावल और रोटी को भारत का मेन मील माना गया है. हर घर में रोज ही दाल जरूर बनती है क्योंकि दाल प्रोटीन का भंडार मानी जाती है. कुछ लोग मूंग की दाल ज्यादा खाते हैं तो  कुछ लोग मसूर, अरहर और उड़द पर फोकस करते हैं. देसी घी का तड़का लगाकर बनाई गई दाल सेहत के लिए काफी फायदा करती है. जो लोग नॉनवेज नहीं खाते हैं,उनके लिए दाल प्रोटीन का एक खास सोर्स मानी जाती है. लेकिन अक्सर लोग इस बात को लेकर कंफ्यूज होते हैं कि किस दाल में ज्यादा प्रोटीन होता है. कुछ लोग मूंग की दाल को प्रोटीन का भंडार मानते हैं तो कुछ लोगों की नजर में उड़द की दाल प्रोटीन का शानदार सोर्स है. चलिए जानते हैं कि किस दाल में सबसे ज्यादा प्रोटीन होता है. 

 

किस दाल में होता है सबसे ज्यादा प्रोटीन  

डॉक्टर कहते हैं कि पीली मूंग की दाल में सबसे ज्यादा प्रोटीन पाया जाता है. 100 ग्राम पीली मूंग की दाल में 24 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है.आपको बता दें कि प्रोटीन के साथ साथ फाइबर,आयरन, पोटैशियम, कैल्शियम, लेक्टिन और पॉलीफेनोल्स जैसे पोषक तत्वों से भरपूर मूंग की दाल शरीर को डेवलप करने में काफी जरूरी कही जाती है. इसके सेवन से दिल स्वस्थ रहता है, मांसपेशियों को ताकत मिलती है और वजन भी कंट्रोल रहता है.

 

मूंगदाल के ढेर सारे फायदे 

मूंग दाल खाने से मधुमेह में भी आराम मिलता है.मूंग की दाल बाकी सारी दालों की तुलना में पाचन में सबसे हल्की कही जाती है और इसलिए डॉक्टर मूंग की दाल खाने की सलाह देते हैं. मूंग की दाल से पाचन संबंधी दिक्कतें जैसे ब्लोटिंग,गैस, अपच, पेट में जलन आदि की परेशानियां दूर होती हैं और इससे मेटाबॉलिज्म भी बूस्ट होता है.चूंकि मूंग की दाल तासीर में ठंडी होती है इसलिए ये पेट को काफी फायदा करती है. 

 

उड़द की दाल में कितना प्रोटीन होता है 

दूसरी तरफ उड़द की दाल की बात करें तो इसमें भी खूब सारा प्रोटीन होता है. 100 ग्राम उड़द की दाल में 24 ग्राम प्रोटीन होता है और इससे 350 कैलोरी मिलती है. उड़द की दाल को अक्सर दाल मखनी बनाने के लिए यूज किया जाता है. फैट और कैलोरी के मामले में ये दाल काफी फायदा करती है. इस दाल में प्रोटीन के साथ साथ ढेर सारा विटामिन बी 3 होता है. लेकिन जिन लोगों को गैस की परेशानी होती है, उनके लिए उड़द की दाल कभी कभी नुकसान कर जाती है. आयुर्वेद में कहा गया है कि वात, पित्त और वायु के शिकार लोगो को उड़द की दाल कम खानी चाहिए.

 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

Take a look at under Well being Instruments-
Calculate Your Physique Mass Index ( BMI )

Calculate The Age By means of Age Calculator

.

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *