Jio Monetary Companies: मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के रिलायंस समूह की ताजा लिस्टेड कंपनी जियो फाइनेंशियल सर्विसेज के बॉन्ड (Jio Monetary Companies Bond) को लेकर खबरें आ रही थीं. अब इस मामले पर जियो फाइनेंशियल सर्विसेज ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. मंगलवार को रेगुलेटरी फाइलिंग में इस मामले पर जानकारी देते हुए कंपनी ने बताया कि फिलहाल हमारा बॉन्ड के जरिए फंड जुटाने का कोई प्लान नहीं है. इस बयान के साथ ही कंपनी ने उन खबरों पर पूरी तरह से विराम लगा दिया जिसमें यह दावा किया गया था कि कंपनी जल्द ही बॉन्ड के जरिए फंड जुटाने की कोशिश कर रही है.

बॉन्ड के जरिए 10,000 करोड़ रुपये  जुटाने की थी खबर

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने यह खबर दी थी कि रिलायंस इंडस्ट्रीज की जियो फाइनेंशियल सर्विसेज बॉन्ड जारी करने के लिए मर्चेंट बैंकरों से बातचीत करने में लगी हुई है. एजेंसी ने यह भी दावा किया था कि कंपनी बॉन्ड के जरिए 5,000 से 10,000 करोड़ रुपये तक जुटाने की प्लानिंग कर रही है. इसके साथ ही यह भी बताया गया था कि यह बॉन्ड वित्त वर्ष 2023-24 की आखिरी तिमाही यानी जनवरी से मार्च के बीच आ सकता है.

ब्लैकरॉक के साथ किया है जॉइंट वेंचर

जियो फाइनेंशियल सर्विसेज (जेएफएस) ने दुनिया की दिग्गज ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी ब्लैकरॉक के साथ 50:50 के रेश्यो मे एक जॉइंट वेंचर किया है. इस करार के तहत दोनों कंपनियां मिलकर 150-150 मिलियन डॉलर का शुरुआती निवेश करेंगी.

जियो फाइनेंस की बजाज फाइनेंस को टक्कर देने की कोशिश

जियो फाइनेंशियल सर्विसेज अगस्त 2023 में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर क्रमशः 262 और 265 रुपये पर लिस्ट हुई थी. कंपनी फाइनेंशियल सेक्टर (Monetary Sector) में लगातार अपने पैर जमाने का प्रयास कर रही है और इस सेक्टर की बड़ी कंपनी बजाज फाइनेंस (Bajaj Finance) को टक्कर देने की कोशिश कर रही है. बजाज फाइनेंस भी ऑटो लोन, होम लोन जैसे कई फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स मुहैया कराती है. 

ये भी पढ़ें-

Byju’s की लगातार बढ़ रही मुश्किलें! इस मामले में ईडी ने बायजू रवींद्रन की कंपनी को थमाया 9300 करोड़ का नोटिस



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *