Picture:FILE बैंक से Mortgage

आमतौर पर बैंक लोन देने से पहले लोन लेने वाले व्यक्ति का 3 साल का इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) मांगते हैं। सैलरी पेशा वाले लोगों को सैलरी स्लिप और दूसरे कागजात के आधार पर बैंक लोन दे भी देते हैं, लेकिन बिजनेस करने वाले को मुश्किल का सामना करना पड़ता है। बिजनेस के अधिकांश मामले में अगर ITR नहीं तो बैंक लोन देने से मना कर देते हैं। हालांकि, ऐसा नहीं कि आईटीआर नहीं तो लोन नहीं मिल सकता है। आइए, जानते हैं कि अगर आप बिजनेस करते हैं और आईटीआर नहीं तो भी कैसे बैंक से लोन प्राप्त कर सकते हैं। 

कोलैटरल के आधार पर लोन 

अगर आप बिजनेस करते हैं और आपके पास आईटीआर नहीं तो आप कोलैटरल के आधार पर बैंक से लोन ले सकते हैं। कोलैटरल (Collateral) एक ऐसी प्रॉपर्टी होती है जो कोई ​बैंक किसी लोन के लिए सिक्योरिटी के रूप में स्वीकार करता है। कोलैटरल रियल एस्टेट या अन्य एसेट के रूप में हो सकता है जैसा की बैंक एफडी, म्यूचुअल फंड आदि। यदि आप इक्व्टिी पर लोन के लिए आवेदन करते हैं, तो इसके मिलने की संभावना अधिक होती है।

सह-आवेदक के साथ आवेदन करें

अगर आप ​कोई छोटा बिजनेस करते हैं और आपके पास आईटीआर नहीं है तो आप सह-आवेदक के साथ ज्वाइंट लोन के लिए आवेदन करने पर विचार करें। ज्वाइंट लोन के मामले में, बैंक आवेदक और सह-आवेदक की संयुक्त आय पर विचार करता है। ज्वाइंट लोन में अगर प्राथमिक आवेदक के पास कोई कागजात नहीं होते तो भी बैंक सह-आवेदक को आधार बनाकर लोन दे देता है। ज्वाइंट लोन आपको बड़ी मात्रा में धन प्राप्त करने में मदद करता है। 

छोटे लोन के लिए आवेदन करें

अगर आपके पास लोन लेने के लिए आईटीआर या अन्य आवश्यक प्रमाण नहीं है, तो छोटी राशि के लोन के लिए आवेदन करें। कर्ज देने वाली संस्थाएं तमाम दस्तावेजों की मांग करने के बजाय मूल आय प्रमाण के साथ छोटी राशि के लिए कर्ज दे देती है। छोटी राशि के लोन  बैंक जल्द स्वीकृत भी कर देते हैं। 

Newest Enterprise Information





Supply hyperlink

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *