<p fashion="text-align: justify;"><sturdy>Indian Aviation Sector:</sturdy> भारत के एविएशन मार्केट में जबरदस्त बदलाव देखने को मिला रहा है. एयर इंडिया ने 470 विमानों को खरीदने का आर्डर दिया है. इंडिगो भी भी नए विमानों के खरीद के लिए आर्डर देने की तैयारी में है. ऐसे में इन विमानों के लिए बड़ी संख्या में पायलट और मैकेनिक्स की जरुरत होगी. विमान बनाने वाली अमेरिकी कंपनी बोइंग ने कहा है कि अगले 20 वर्षों में भारत में 31,000 पायलट्स और 26,000 मैकेनिक्स की आवश्यकता होगी.&nbsp;</p>
<p fashion="text-align: justify;">बोइंग इंडिया के प्रेसीडेंट सलिल गुप्ते ने कहा कि अगले 20 वर्षों में दक्षिण एशियाई रीजन सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाला एविशन मार्केट रहने वाला है. ऐसे में भारत को विमानों के उड़ान भरने के लिए 31,000 पायलट्स और विमानों के रखरखाव के लिए 26,000 मैकेनिक्स की जरुरत होगी. उन्होंने कहा कि भारत के एयर ट्रैफिक ग्रोथ को देखते हुए इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने पर ज्यादा तरजीह देना होगा. जिसमें एयरपोर्ट्स के विकास के साथ पायलट्स और मैकेनिक्स की जरुरतें शामिल है.</p>
<p fashion="text-align: justify;">हाल ही में बोइंग ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि 2040 तक भारत का एयर ट्रैफिक 7 फीसदी के दर से सालाना ग्रोथ दिखाएगा. सलिल गुप्ते ने कहा कि कोरोना महामराी से बाहर निकलने के बाद एयर ट्रैवल की मांग ने पूरी दुनिया को हैरान कर दिया है. उन्होंने कहा कि वैश्विक फाइनैंशियल क्राइसिस का एयर ट्रैवल के ग्रोथ पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है. &nbsp;</p>
<p fashion="text-align: justify;">एयर ट्रैवल की बढ़ती मांग को देखते हुए देश के घरेलू एयरलाइंस आने वाले दिनों में घरेलू एयरलाइंस 1100 से ज्यादा नए विमानों का आर्डर करने जा रहे हैं. जिनकी शुरुआत टाटा ने कर दी है. टाटा समूह ने 470 नए विमानों का आर्डर बोइंग और एयरबस को दिया है. और कंपनी के पास इसके अतिरिक्त 370 और प्लेन के आर्डर करने का ऑप्शन उपलब्ध है. भारत में बढ़ते एयर ट्रैवल की मांग को पूरा करने के लिए एयरलाइंस कंपनियों को 2210 नए प्लेन का आर्डर करना पड़ सकता है. एयर इंडिया, इंडिगो, विस्तारा और अकासा के कुल 1115 प्लेन आर्डर पर है. &nbsp;</p>
<p><sturdy>ये भी पढ़ें&nbsp;</sturdy></p>
<p><sturdy><a title="Petrol-Diesel Value: 15 महीने के निचले स्तर 70 डॉलर प्रति बैरल के नीचे फिसला कच्चा तेल, पर कब मिलेगी महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत?" href="https://www.abplive.com/enterprise/crude-oil-price-slips-at-15-months-low-neat-70-dollar-per-barrel-but-no-relief-from-costly-petrol-diesel-price-by-omc-2363663" goal="_self">Petrol-Diesel Value: 15 महीने के निचले स्तर 70 डॉलर प्रति बैरल के नीचे फिसला कच्चा तेल, पर कब मिलेगी महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत?</a></sturdy></p>



Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *