[ad_1]

फास्टैग केवाईसी की...- India TV Paisa
Photograph:FILE फास्टैग केवाईसी की समयसीमा

Fastag KYC Replace Deadline : भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) अपनी ‘एक वाहन, एक फास्टैग’ पहल को लागू करने की समय सीमा बढ़ा सकता है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पेटीएम फास्टैग यूजर्स के सामने आने वाली समस्याओं को देखते हुए इसकी समय सीमा मार्च के अंत तक बढ़ाने का प्रस्ताव है। एनएचएआई ने इससे पहले एक मार्च से ‘एक वाहन, एक फास्टैग’ पहल को लागू करने की बात कही थी। अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर पीटीआई-भाषा को बताया, ”पेटीएम संकट को देखते हुए, फास्टैग यूजर्स को ‘एक वाहन-एक फास्टैग’ मानक अपनाने के लिए अधिक समय दिया जा सकता है।”

29 फरवरी तक बढ़ी हुई है समयसीमा

राजमार्गों का प्रबंधन करने वाले निकाय एनएचएआई ने इससे पहले एक वाहन – एक फास्टैग पहल को लागू करने और अपने फास्टैग के लिए केवाईसी को अपडेट करने की समय सीमा 29 फरवरी 2024 तक बढ़ा दी थी। इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह प्रणाली की दक्षता बढ़ाने और टोल प्लाजा पर वाहनों की निर्बाध आवाजाही को संभव बनाने के लिए एनएचएआई ने ‘एक वाहन, एक फास्टैग’ पहल लागू की है। इसका उद्देश्य कई वाहनों के लिए एक ही फास्टैग के इस्तेमाल या एक विशेष वाहन के लिए कई फास्टैग जोड़ने को हतोत्साहित करना है।

इस तरह करें Fastag KYC को अपडेट 

  • फास्टैग केवाईसी को अपडेट करने के लिए सबसे पहले आपको इंडियन हाइवे मैनेजमेंट कंपनी (IHML) की वेबसाइट पर जाना होगा। आप सीधे इस लिंक https://fastag.ihmcl.com/ पर जा सकते हैं। 
  • अब आपको फास्टैग में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से लॉग इन करना होगा। 
  • इसके बाद आपके सामने डैशबोर्ड खुल जाएगा। 
  • यहां लेफ्ट में माय प्रोफाइल सेक्शन दिया गया होगा। यहां आप अपनी केवाइसी का स्टेटस चेक कर सकते हैं। इसके अलावा रजिस्ट्रेशन के दौरान दी गई सभी जानकारी यहां उपलब्ध होगी। 
  • केवाईसी करने के लिए आपको प्रोफाइल सेक्शन के बगल में मौजूद केवाईसी सेक्शन पर जाना होगा। इसके बाद कस्टमर टाइप को सलेक्ट करें। 
  • अब आपको यहां पर आईडी प्रूफ जमा करना है। 
  • फिर आपको डिक्लेरेशन पर चेक मार्क करना होगा। यहां लिखा होगा कि यहां आपने जो भी जानकारी दी है वह सही है। 

Newest Enterprise Information



[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *