Photograph:FILE सोना

सोने की कीमत अपने रिकॉर्ड हाई से 3000 रुपये सस्ता हो गया है। वर्ल्ड मार्केट में गोल्ड की कीमतों में गिरावट आने से हाल के दिनों में घरेलू बाजार में सोने की कीमत में लगातार गिरावट आई है। राष्ट्रीय राजधानी के सर्राफा बाजार में सोने का भाव 615 रुपये की गिरावट के साथ 55,095 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है। वहीं, चांदी की कीमत भी 2,285 रुपये लुढ़ककर 62,025 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई है। आपको बता दें कि इस साल की शुरुआत में सोना 58,847 रुपये प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया था। हाजिर बाजार में भी ​कीमतें गिरीं हैं। दिल्ली के बाजार में सोने का हाजिर भाव 615 रुपये की गिरावट के साथ 55,095 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा था। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोना गिरावट के साथ 1,814 डॉलर प्रति औंस रह गया, जबकि चांदी का भाव गिरावट के साथ 20.05 डॉलर प्रति औंस रह गया है। ऐसे में क्या यह सोने की खरीदारी का सुनहरा मौका या अभी इंतजार करना ठीक होगा, आइए जानते हैं। 

अभी और सस्ता होने की उम्मीद 

सर्राफा बाजार के विशेषज्ञों का कहना है कि वैश्विक बाजार में सोने पर दबाव देखने को मिल रहा है। ऐसे में आने वाले दिनों में सोने कीमत पर दबाव रहने की संभावनप है। अगर, वैश्विक बाजार में बिकवाली आती है तो सोने का भाव 54,000 प्रति 10 ग्राम तक आ सकता है। वहीं, तेजी आने पर सोना 57,000 का भाव दिखा सकता है। अभी सब की नजर इस सप्ताह आने वाले इस सप्ताह आने वाले अमेरिकी नौकरियों की रिपोर्ट और फेड चेयर पॉवेल की अर्ध-वार्षिक मौद्रिक नीति की कमेंट्री पर टिकी है। ये दो कारक सोने की कीमत तय करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं।

फेड की ब्याज बढ़ोतरी से दबाव बढ़ेगा 

जानकारों का कहना है ​कि महंगाई को काबू करने के लिए अमेरिकी फेड की ओर से ब्याज दरों में एक और बड़ी बढ़ोतरी हो सकती है। भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से भी ब्याज दरों में बढ़ोतरी की पूरी संभावना है। यह सोने की कीमत पर दबाव बढ़ाने का काम करेगा। निवेशकों के बीच सोना कम आकर्षित हो जाएगा। इसका असर आने वाले दिनों में सोने की कीमतों पर देखने को मिल सकता है। 

Newest Enterprise Information





Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *