[ad_1]

छोटी बचत योजना- India TV Paisa
Picture:PIXABAY छोटी बचत योजना

सरकार ने दिसंबर तिमाही के लिए पांच साल की आरडी स्कीम (five-year recurring deposit scheme) पर ब्याज दर को पहले के 6.5 प्रतिशत से बढ़ाकर 6.7 प्रतिशत करने का शुक्रवार को ऐलान कर दिया है। हालांकि सरकार ने बाकी छोटी बचत योजनाओं (small saving schemes) पर मौजूदा ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। भाषा की खबर के मुताबिक, वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) के सर्कुलर के मुताबिक, सेविंग बचत खाते पर मौजूदा 4 प्रतिशत सालाना ब्याज दर को पहले की तरह ही रहने दिया है। 

पीपीएफ की दरों में भी कोई बदलाव नहीं


खबर के मुताबिक, पीपीएफ (PPF) समेत दूसरी सभी छोटी बचत योजनाओं (small saving schemes) के लिए ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। वित्त मंत्रालय के शुक्रवार को जारी सर्कुलर के मुताबिक, एक साल की सावधि जमा पर 6.9 प्रतिशत ब्याज पहले की तरह मिलता रहेगा। दो साल और तीन साल की सावधि जमा पर ब्याज 7 प्रतिशत है जबकि पांच साल की सावधि जमा पर 7.5 प्रतिशत है। 

सर्कुलर के मुताबिक, बेटियों से जुड़ी पॉपुलर सुकन्या समृद्धि अकाउंट में जमा राशि पर ब्याज दर 8 प्रतिशत पर बरकरार रखी गई है। सरकार हर तिमाही में मुख्य रूप से डाकघरों द्वारा संचालित छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर नोटिफाई करती है।

इन स्कीम्स पर जान लें मौजूदा ब्याज दरें

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS) पर 8.2 प्रतिशत ब्याज मिलता रहेगा। मासिक आय खाता (MIS) योजना पर ब्याज 7.4 प्रतिशत है जबकि राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) पर यह 7.7 प्रतिशत और सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) योजना पर 7.1 प्रतिशत है। किसान विकास पत्र (KVP) पर ब्याज दर 7.5 प्रतिशत है और यह 115 महीनों में मेच्योर होगा।

छोटी रकम से निवेश के लिए मिलता है मौका

सरकार की छोटी बचत योजनाओं (small saving schemes)में निवेश करना सुरक्षित होता है। बेहद कम रकम (मिनिमम 100 रुपये) से भी निवेश की शुरुआत की जा सकती है। इन निवेश विकल्पों पर निवेश की गई राशि की सुरक्षा की गारंटी होती है। पोस्ट ऑफिस के जरिये ऑफर की जाने वाली इन छोटी बचत योजनाओं के निवेशकों की देशभर में काफी संख्या है।

Newest Enterprise Information



[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *