Picture:AP वैश्विक मंदी

वैश्विक मंदी की चिंता के बीच भारत को लेकर एक अच्छी खबर आई है। भारत में मंदी की संभावना बिल्कुल नहीं है। इतना ही नहीं, जॉब मार्केट में सर्वश्रेष्ठ आना अभी बाकी है। यानी आने वाले समय में नई नौकरियों की बारिश होगी। युवाओं को रोजगार मिलेंगे और देश की जीडीपी रफ्तार और तेजी होगी। ये बातें व्यापार सेवा प्रदाता कंपनी क्वेस कॉर्प के संस्थापक और गैर-कार्यकारी अध्यक्ष अजीत आइजेक ने कही है। आइजेक बेंगलुरु में एक कार्यक्रम के दौरान बोल रहे थे।उन्होंने कहा कि दुनियाभर में मंदी की आशंका के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था बेहतर कर रही है। ऐसे में यहां मंदी का खतरा नहीं है। भारत विकास की राह पर तेजी से चल रहा है। 

विकास दर गिरी लेकिन आगे अच्छी स्थिति 

आइजेक ने कहा कि भले ही अभी भारत की विकास दर 8 फीसदी से कम हो गई है लेकिन लंबी अवधि में इसका असर नहीं होगा। भारत आगे तेजी से विकास करेगा। उन्होंने कहा कि भारत में साल 2000 से 2007 के बीच रोजगार के अवसर तेजी से बढ़े थे। वहीं, देश की जीडीपी जो वर्ष 2000 में 470 बिलियन डॉलर थी वह वर्ष 2007 में 1.4 ट्रिलियन डॉलर हो गई। हम नौकरियों के अवसर में इस तरह की वृद्धि फिर हासिल कर सकते हैं। 

टेक सेक्टर में अभी 6 महीने संकट रहेगा


 

आइजेक ने कहा कि टेक्नोलॉजी और इंटरनेट सेक्टर की कंपनियों में बड़े पैमाने पर छंटनी की जार ही है। यह माहौल अगले दो तिमाहियों तक जारी रहने की आशंका है। हालांकि, उन्होंने यह भी कि दुनिया का सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र 50 लाख लोगों को प्रत्यक्ष रूप से और 50 लाख लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार देता है। इसलिए आईटी उद्योग में छंटनी जरूर हो रही है लेकिन रोजगार भी बड़े पैमाने पर दी जा रही है। इसलिए हमें सिर्फ आईटी के बजाय ओवरऑल आर्थिक परिदृश्य को ध्यान देना चाहिए। गौरतलब है कि क्वेस कॉर्प ने अपने मानव संसाधन सेवा पोर्टफोलियो को मजबूत करने के उद्देश्य से एक रणनीतिक निवेश के रूप में 2018 में मॉन्स्टर वर्ल्डवाइड के APAC और ME व्यवसायों का अधिग्रहण किया था। यह कंपनी भारत, सिंगापुर, मलेशिया, फिलीपींस, हांगकांग, वियतनाम, थाईलैंड, इंडोनेशिया, संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब में काम कर रही है।     

Newest Enterprise Information





Supply hyperlink

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *