[ad_1]

Renewable Vitality Park: दुनिया के सबसे बड़े ग्रीन एनर्जी पार्क से बिजली का उत्पादन शुरू कर दिया गया है. देश की सबसे बड़ी रिन्यूएबल एनर्जी कंपनी अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (Adani Inexperienced Vitality) ने गुजरात के खावड़ा में स्थित 551 मेगावाट के सोलर प्लांट को चालू कर दिया है. इससे नेशनल ग्रिड को बिजली सप्लाई की जाएगी. कंपनी का दावा है कि इस प्लांट से 1.6 करोड़ से ज्यादा घर रोशन किए जा सकेंगे. साथ ही सालाना 5.8 करोड़ टन कार्बन उत्सर्जन कम किया जा सकेगा. इस प्लांट से 81 अरब यूनिट बिजली पैदा की जा सकेगी. 

इस प्लांट को 30 गीगावाट क्षमता तक ले जाएगी कंपनी 

अडानी ग्रीन एनर्जी के मुताबिक, इस प्लांट का काम मात्र 12 महीने में पूरा कर लिया गया है. कच्छ के रण में स्थित इस विशालकाय प्लांट को तैयार करने के लिए सड़क से लेकर सभी जरूरी सुविधाएं विकसित की गई हैं. कंपनी के इस प्लांट में करीब 8000 कर्मचारी काम करते हैं. कंपनी ने दावा किया है कि यह प्लांट लगभग 15200 नौकरियां पैदा करेगा. इससे जो कार्बन उत्सर्जन कम किया जाएगा, वह लगभग 1.26 करोड़ कारों को रोड से हटाने के बराबर है. कंपनी की योजना इस प्लांट को 30 गीगावाट क्षमता तक ले जाने की है. इसके लिए 5 साल का लक्ष्य बनाया गया है. यह लक्ष्य हासिल करने के साथ ही खावड़ा प्लांट दुनिया का सबसे बड़ा रिन्यूएबल एनर्जी प्लांट बन जाएगा. 

दुनिया का सबसे बड़ा रिन्यूएबल एनर्जी इकोसिस्टम तैयार कर रही कंपनी 

अडानी ग्रुप (Adani Group) के चेयरमैन गौतम अडानी (Gautam Adani) ने कहा कि अडानी ग्रीन एनर्जी दुनिया का सबसे बड़ा रिन्यूएबल एनर्जी इकोसिस्टम तैयार कर रही है. खावड़ा प्रोजेक्ट इसकी प्रयास का हिस्सा है. भारत ने 2030 तक 500 गीगावाट रिन्यूएबल एनर्जी पैदा करने का लक्ष्य रखा है. अडानी ग्रुप इस लक्ष्य को हासिल करने में पूरी मदद करेगा. अडानी ग्रीन एनर्जी के पास फिलहाल 9029 मेगावाट के संचालित प्लांट हैं, जो कि 12 राज्यों में फैले हुए हैं. कंपनी की कुल उत्पादन क्षमता 20,844 मेगावाट है. 

जैसलमेर में 2140 मेगावाट का विंड सोलर हाइब्रिड प्लांट बनाया 

कच्छ का रण रिन्यूएबल एनर्जी के लिए एकदम उपयुक्त वातावरण देते है. यहां विंड एवं सोलर एनर्जी को आसानी से पैदा किया जा सकता है. इस प्लांट के लिए अडानी ग्रीन एनर्जी ने व्यापक रिसर्च की है. कंपनी ग्रिड कनेक्टेड सोलर, विंड और हाइब्रिड रिन्यूएबल एनर्जी पावर प्लांट चलाती है. इसने हाल ही में राजस्थान के जैसलमेर में 2140 मेगावाट का विंड सोलर हाइब्रिड प्लांट बनाया था. कंपनी का लक्ष्य अपनी क्षमता को 2030 तक 45 गीगावाट तक ले जाने का है.

ये भी पढ़ें 

Adani Enterprises: अडानी एंटरप्राइजेज में 20 फीसदी तेजी का अनुमान, सबसे ज्यादा फायदा इस बिजनेस से- जेफरीज

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *