[ad_1]

Vistara Airways: नागरिक उड्ड्यन क्षेत्र की रेग्यूलेटर डीजीसीए ने विस्तारा एयरलाइंस के उड़ानें रद्द किए जाने के मामले को बेहद गंभीरता के साथ लिया है. रेग्यूलेटर ने एयरलाइंस से रद्द किए गए उड़ानों के डिटेल्स देने को कहा है. रेग्यूलेटर ने विस्तारा से रोजाना बेसिस पर रद्द किए गए उड़ानों के साथ फ्लाइट्स में देरी की रिपोर्ट सौंपने को कहा है. क्रू की उपलब्धता के अभाव में विस्तारा को बीते दिनों में कई उड़ानों को रद्द करना पड़ा रहा है तो कई फ्लाइट्स के उड़ान भरने में देरी देखने को मिली है.

डीजीसीए की हिदायत 

डीजीसीए ने विस्तारा एयरलाइंस से यात्रियों के बोर्डिंग ना होने पर, फ्लाइट्स के रद्द होने के साथ फ्लाइट्स में देरी होने पर यात्रियों को नियमों के तहत सभी सुविधाएं मुहैया कराने के भी आदेश दिए हैं. जिसमें एडवांस में सूचना से लेकर, रिफंड का विकल्प शामिल है. इससे पहले नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने भी 100 के करीब उड़ानें रद्द किए जाने के बाद विस्तारा से सफाई मांगी है. मंत्रालय विस्तारा के उड़ानें रद्द होने के पैदा हुए हालात पर लगातार नजर बनाए हुए है. सोमवार एक अप्रैल को विस्तारा ने करीब 50 उड़ानें रद्द की थी और ये माना जा रहा कि मंगलवार 2 अप्रैल को भी 60 से 70 के करीब उड़ानें रद्द की जा सकती है. 

विस्तारा की सफाई 

टाटा समूह की विस्तारा एयरलाइंस के यात्रियों को फ्लाइट्स के रद्द होने के चलते परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है. तो लोग सोशल मीडिया पर लिखकर अपने गुस्से का भी इजहार कर रहे हैं. सोमवार को एयरलाइंस के प्रवक्ता ने कहा, ऑपरेशनल कारणों के चलते विस्तारा एयरलाइंस की उड़ानें रद्द हुई है या उड़ानों में देरी देखने को मिली है. उन्होंने कहा कि एयरलाइंस हालात को सामान्य करने की लगातार कोशिशों में जुटी है.  

विस्तारा ने फ्लाइट्स की संख्या भी घटाई है जिससे को घटाने का फैसला नेटवर्क में पर्याप्त कनेक्टिविटी को सुनिश्चित किया जा सके. विस्तारा ने घरेलू रूट्स में B787-9 ड्रीमलाइनर और A321neo जैसे बड़े विमान को भी तैनात किया गया है जिससे ज्यादा संख्या में यात्री उड़ान भर सकें. 

क्यों रद्द हो रही उड़ानें

विस्तारा को क्रू मेंबर्स के साथ पायलट्स की कमी का सामना करना पड़ रहा है. दरअयल एयर इंडिया के साथ विलय के बाद नए कॉंट्रैक्ट का ये लोग विरोध कर रहे हैं. जिसके चलते ये क्राइसिस खड़ा हुआ है. भारी संख्या में विस्तारा के पायलट्स छुट्टी पर चले गए हैं. एयर इँडिया के साथ विलय से पहले विस्तारा मे पायलट्स को जो सैलेरी स्ट्रक्चर में बदलाव को लेकर जो रिवाइज्ड कॉंट्रैक्ट थमाया है उससे पायलट्स खुश नहीं है. नए नियम के तहत विस्तारा के पायलट्स को 40 घंटों के उड़ान के लिए फिक्स्ड सैलेरी देने का प्रस्ताव है जो पहले 70 घंटे था.  

ये भी पढ़ें 

30 साल पहले SBI के 500 रुपये के शेयर खरीदकर भूले दादाजी, पोते को मिली लाखों की सौगात

[ad_2]

Supply hyperlink

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *