Adani Household: अडानी समूह फंड जुटाने के लिए बीते वर्ष खरीदी गई सीमेंट कंपनी अंबुजा सीमेंट की हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है. अंबुजा सीमेंट की प्रमोटर्स अडानी फैमिली स्पेशल पर्पस व्हीकल्स ने लेंडर्स से संभावित शेयर बेचने के लिए इजाजत मांगी है. अडानी समूह अंबुजा सीमेंट्स में 4.5 फीसदी हिस्सेदारी सेंकेडरी मार्केट में ब्लॉक डील के जरिए बेच सकती है. 

अडानी समूह अंबुजा सीमेंट्स के शेयर बेचकर 3,000 करोड़ रुपये जुटाने की तैयारी में है. 4.5 फीसदी हिस्सेदारी ब्लॉक डील के जरिए बेची जा सकती है. अंबुजा सीमेंट के क्लोजिंग प्राइस के हिसाब से समूह को 3380 करोड़ रुपये शेयर बेचकर जुटाने में सफलता मिल सकती है.  

होल्डरइंड इंवेस्टमेंट लिमिटेड (Holderind Investments Ltd) और इंडीवर ट्रेड एंड इंवेस्टमेंट लिमिटेड (Endeavour Commerce and Funding Ltd) स्पेशल पर्पस व्हीकल के जरिए अडानी समूह ने अंबुजा सीमेट्स और एसीसी को खरीदा था. होल्डरइंड के पास अंबुजा सीमेंट्स की 63.18 फीसदी हिस्सेदारी है जबकि इंडीवर के पास 0.04 फीसदी स्टेक है. प्रमोटर के पास कुल 63.22 फीसदी हिस्सेदारी है. 

मई 2022 में अडानी समूह ने होल्सिम इंडिया के एसेट्स अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी का 10.5 अरब डॉलर वैल्युएशन में अधिग्रहण किया था. समूह ने इस अधिग्रहण के लिए दूसरी समूह कंपनियों के शेयर्स गिरवी रखे थे और इसके जरिए 1.1 अरब डॉलर रकम जुटाये थे.  

इससे पहले गुरुवार को खबर आई थी कि अडानी समूह ने अपनी कंपनियों के और ज्यादा शेयर लिए गए कर्ज की सिक्योरिटी के तौर पर गिरवी के रूप में रखे हैं. एसबीआईकैप ट्रस्टी ने  स्टॉक एक्सचेंजों को ये जानकारी दी है. एसबीआईकैप ने शेयर बाजार को बताया कि अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के 0.99 फीसदी शेयर अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड के कर्जदाताओं के लाभ के लिए गिरवी रखे गए हैं. अडानी ट्रांसमिशन लिमिटेड के भी 0.76 फीसदी शेयर बैंकों में गिरवी रखे हैं. हालांकि भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की यूनिट एसबीआईकैप ने हालांकि ये नहीं बताया है कि अडानी एंटरप्राइजेज ने कितना कर्ज लिया हुआ है, जिसके लिए शेयरों को समूह को गिरवी के तौर पर रखना पड़ा है. 

ये भी पढ़ें 

Tata Applied sciences IPO: 2 दशक बाद IPO बाजार में टाटा समूह देगी दस्तक, टाटा टेक्नोलॉजीज ने सेबी के पास दाखिल किया ड्रॉफ्ट पेपर



Supply hyperlink

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *